ENG | HINDI

वो अलफ़ाज़ जिन्हें पढ़कर इश्क़ को भी इश्क़ हो जाये

8

ऐसा लगता है ज़िन्दगी तुम हो

अजनबी जैसे अजनबी तुम हो

अब कोई आरज़ू नहीं बाकी

जुस्तजू मेरी आख़िरी तुम हो

-बशीर बद्र

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10

Article Tags:
· · · ·
Article Categories:
प्रेम

Don't Miss! random posts ..