ENG | HINDI

कोरोना के लॉक डाउन में क्या है शराबियों का हाल?

कोरोना महामारी के कारण देश के देश बर्बाद हो रही हैं, इंडस्ट्रीज ठप पड़ी हुई हैं ठप पड़ी हुई हैं, लोग घरों में बंद रहने को मजबूर हैं, लेकिन शायद फिर भी कोरोना की वजह कोई इतना परेशान होगा, जितनी इन दिनों शराबी हैं.

शराबियों के दिन कोरोना की वजह से आजकल वैसे ही बीत रहे हैं जैसे अपनी प्रेमिका से बिछड़ने के बाद प्रेमियों के बीतते हैं. ना भूख लगती हैं ना प्यास, ना दिन गुजरता है और ना ही रातें कटती हैं.

लॉकडाउन से बेहाल शराबी

सरकार ने लॉकडाउन तो लगा दिया लेकिन शराबियों को नजरअंदाज कर गई. देशभर में जरुरत की सभी दुकानें खुली हैं. सरकार लोगों के घरों तक दाल, चावल, दाल और दूसरी खानें की चीजें पहुंचा रही हैं, तबीयत खराब होने पर मेडिकल की दुकानें भी खुली हैं.

देखा जाए तो सरकार ने सभी वर्ग के लोगों की जरुरत का ख्याल रखा है, बस ख्याल नहीं रखा तो वो शराबियों का. जिनका इस लॉकडाउन पीरियड में बुरा हाल है.

शराबियों की सरकार से अपील है कि शराब की दुकानें खोल दी जाएं तो वो अगले दो-तीन महीने का इंतजाम कर लें.

ठेके खोलने की कर रहे मांग

मध्य प्रदेश, तेलंगाना सहित कई राज्यों से इस तरह की मांगे उठ रही हैं. शराब के आदि लोगों का कहना है कि लॉकडाउन में शराब की दुकानें खोलना बहुत जरुरी हैं क्योंकि वो उनके आदि हो चुके है.

तेलंगाना में शराब के आदि हो चुके लोग अपनी इस तलब को रोक नहीं पा रहे हैं रिपोर्टस क अनुसार तेलंगाना के कुछ हॉस्पिटल में लगातार शराबियों के मामले आ रहे हैं जो शराब न मिलने की वजह से अजीबोगरीब हरकतें कर रहे हैं यही नहीं शराब न मिलने की वजह से दो लोगों के आत्महत्या की खबर भी सामने आई थी, वहीं एक्टर ऋषि कपूर ने भी सरकार से इन लोगों की समस्या पर ध्यान देने की अपील की थी.

शराब न मिलने पर एग्रसिव हुए शराबी पिता

वहीं मध्य प्रदेश से ही कुछ ऐसे ही मामले पिछले दिनों सुनने को मिलें है. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पिछले दिनों एक केस सामने आया था. एक बच्ची ने अपने शराबी पिता के हिंसक व्यवहार से तंग आकर चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर पर कॉल किया था.

बच्ची की मांग की थी कि उसे बाहर कहीं और शिफ्ट कर दिया जाए. बच्ची का कहना था कि उसके पिता एक बिजनेसमैन है, उनके पास शराब का कुछ स्टॉक था लेकिन जब से स्टॉक खत्म हुआ है तब से पापा बार-बार हिसंक हो रहे हैं.  

तेलंगाना, मध्य प्रदेश और दूसरे राज्यों से आ रहे इस तरह के मामले हैरान कर देने वाले हैं. शराब की मांग करने वाले लोगों पर आपको हंसी भी आ रही होगी क्योंकि ये एक बेतुकी मांग है जिस पर सरकार को ध्यान देने की जरुरत नही है.

लेकिन ऐसा नहीं है, क्योंकि ये मांग वो लोग उठा रहे हैं जो शराब के आदि है, शराब की लत उन्हें इस तरह की मांग करने के लिए मजबूर कर रही है.

वैसे भी लत चाहे शराब की हो या किसी और चीज की, बुरी ही होती है, हालांकि सरकार इन लोगों की समस्या का क्या समाधान निकालेगी ये कहना मुश्किल है.

Article Categories:
Uncategorized

Don't Miss! random posts ..