ENG | HINDI

वो अलफ़ाज़ जिन्हें पढ़कर इश्क़ को भी इश्क़ हो जाये

5

एक ज़रा हाथ बढ़ा, दे तो पकड़ लें दामन

उसके सीने में समा जाये हमारी धड़कन

इतनी क़ुर्बत हैं तो फिर फ़ासला इतना क्यों हैं

-कैफ़ी आज़मी

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10

Article Tags:
· · · ·
Article Categories:
प्रेम

Don't Miss! random posts ..