ENG | HINDI

क्वीन एलिजाबेथ की मौत पर कुछ ऐसे निकलेगी शोक सभा !

क्वीन एलिज़ाबेथ

क्वीन एलिज़ाबेथ की मृत्‍यु को लेकर एक चौंकाने वाल खुलासा हुआ है। सूत्रों का कहना है कि जब वर्तमान की क्‍वीन एलिजाबेथ की मृत्‍यु होगी तो उनकी शोक सभा की तैयारियां अभी से कर ली गई हैं।

जी हां, ये सुनने में थोड़ा अटपटा जरूर लगता है कि भला किसी इंसान के मरने से पहले ही उसकी शोक सभा का आयोजन कैसा किया जा सकता है लेकिन ब्रिटेन की क्वीन एलिज़ाबेथ के लिए ये सब भी किया जा रहा है।

ब्रिटिश के इतिहास में क्वीन एलिज़ाबेथ सबसे लंबे समय तक राज करने वाली शासक बनी हैं। उन्‍हों ने ब्रिटेन पर 1952 से हुकूमत की है। उनके 64 साल के कार्यकाल के दौरान साम्‍यवाद का अंत हुआ, नील आर्मस्‍ट्रॉन्‍ग चांद पर पहुंच गए और पूरी दुनिया में हमेशा के लिए इंटरनेट का आगमन हुआ।

क्वीन एलिज़ाबेथ

अब 90 की उम्र में क्वीन एलिज़ाबेथ अपनी सभी शाही जिम्‍मेदारियों से मुक्‍त होना चाहती है और वो अपने कार्यकाल का अंत करने की ओर अग्रसर हैं।

लेकिन क्‍या होगा अगर किसी दिन क्वीन एलिज़ाबेथ की मृत्‍यु हो जाए तो ?

क्‍वीन की मृत्‍यु पर पूरा देश दुख के सागर में डूब जाएगा।

राष्ट्रीय शोक की 12 दिनों की अवधि घोषित की जाएगी क्योंकि देश उनकी मृत्यु के सदमे में चला जाएगा। क्‍वीन हमेशा से ही बहुत पॉपुलर रही हैं और उन्‍हेंब्रिटेन की एक तिहाई से भी ज्‍यादा जनता का समर्थन मिला है।

क्‍वीन की मृत्‍यु के दिन बकिंघमपैलेस को सभी समाचार सूत्रों के हवाले से पूरी दुनिया को उनकी मृत्‍यु की सूचना देनी होगी।

सभी न्‍यूज़ चैनल और ब्रॉडकास्‍टर्स पूरा दिन उनकी मौत की खबर को कवर करने के लिए बेकरार रहेंगें।

आखिरी बार 1952 में जब किसी शासक की मौत हुई थी तो बीबीसी पर सभी कॉमेडीशोज़ बंद कर दिए गए थे। सूत्रों के मुताबिक इस बार भी बीबीसी कुछ ऐसा ही करेगा।

क्वीन एलिज़ाबेथ

कैसेी होगी शोक सभा

शोक सभा से पहले क्‍वीन के शरीर को वेस्‍ट मिनिस्‍टर हॉल में रखा जाएगा जहां पर लोग आकर उन्‍हें श्रद्धांजलि दे सकें। आमतौर पर किसी राजा के शरीर को यहां पर तीन दिन तक रखा जाता है। क्‍वीन की पॉपुलैरिटी को देखते हुए शायद इस अवधि को बढ़ा दिया जाए।

अनुमान है कि क्‍वीन की मृत्‍यु पर 200,000 से भी ज्‍यादा लोग श्रद्धांजलि देने पहुंचे। इस बीच, संसद के दोनों सदनों को अंतिम संस्कार के लिए निलंबित कर दिया जाएगा।

इसके बाद वे‍स्‍ट मिनिस्‍टर हॉल से पेडिंगटन स्‍टेशन तक शोक सभा का जुलूस निकाला जाएगी और इसके बाद सैंट्जॉर्जचैपल में उनके पार्थिव शरीर को दफना दिया जाएगा। इस दौरान सड़कों पर भारी भीड़ होगी।

तो कुछ इस तरह निकलेगी ब्रिटेन की क्वीन एलिज़ाबेथ की शव यात्रा। दोस्‍तों, दूसरे देशों में ऐसी शाही शव यात्रा के लिए शायद आपको राजा-महाराजा बनना पड़े लेकिन हमारे देश में तो राजनेताओं और बॉलीवुड स्‍टार्स की शवयात्रा भी इसी ठाट-बाट के साथ निकाली जाती है। आपको बॉलीवुड की मशहूर एक्‍ट्रेस श्रीदेवी की शवयात्रा तो याद ही होगी। श्रीदेवी के अलावा बाला साहेबठाकरे और बालीवुड के दिग्‍गज एक्‍टर राजेश खन्‍ना की शवयात्रा में भी कुछ ऐसे ही जुलूस निकाला गया था जिसमें लाखों लोग शामिल हुए थे। ..

Don't Miss! random posts ..