ENG | HINDI

OMG : शरीर पर सांप लपेटकर स्नेक फेस्टिवल मनाते हैं इस देश के लोग

स्नेक फेस्टिवल
स्नेक फेस्टिवल – सांपों का नाम सुनते हीं डर से लोगों के रुह कांप जाते हैं.
और हो भी क्यों नहीं सांप ऐसा जीव है जिसकी गिनती विश्व के सबसे अधिक जहरीले रेप्टाइल्स में की जाती है. कोई इंसान अगर सांप के जहर का शिकार हो जाए तो उसका बचना लगभग नामुमकिन ही हो जाता है.
लेकिन अगर हम आपको ये कहें कि एक ऐसा देश है जहां पर लोग बड़ी धूम-धाम से स्नेक फेस्टिवल मनाते हैं और इस फेस्टिवल को ऐसे ही नहीं बल्कि ढेर सारे सांपों के साथ बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है तो आप हैरान हो जाएंगे. लेकिन ये सच है.
स्नेक फेस्टिवल
यहां के लोग सांपों के साथ खूब इंजॉय करते हैं. विश्व भर का ये इकलौता ऐसा देश है जहां सांपों के साथ इतनी धूमधाम से इस तरह का जश्न मनाया जाता है. वो देश कोई और नहीं बल्कि इटली है.
इटली का कोक्युलो शहर इस फेस्टिवल के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है. यहां स्नेक फेस्टिवल हर साल मई के महीने में मनाते हैं. भारी तादाद में लोग इकट्ठे होते हैं और सांपों के साथ जुलूस निकाला जाता है.
स्नेक फेस्टिवल
दरअसल 11वीं और 12वीं शताब्दी में सेंट डॉमिनिको नाम का एक व्यक्ति हुआ करता था जोकि ‘बेनडिक्टाइन मॉन्क’ थे उन्हीं की याद में स्नेक फेस्टिवल का आयोजन हर साल मई के महीने में किया जाता है.
कहते हैं कि सेंट डॉमिनिको ऐसे व्यक्ति थे जो किसी भी मनुष्य को अगर सांप काट जाए तो उसके ज़हर को निकाल दिया करते थे और मनुष्य की जान को बचा लेते. इस चीज में उन्हें महारत हासिल थी. और इस बात का वे दावा भी करते थे कि किसी भी व्यक्ति को सांप काट ले तो उसके जहर को आसानी से निकाल देंगे. उन्होंने अपने इस काबिलियत से हजारों लोगों को मौत के मुंह से निकाला भी था. यही वजह है कि यहां के लोग उन्हें सम्मान देते हैं और उनकी याद में स्नेक फेस्टिवल का आयोजन करते हैं साथ हीं जुलूस भी निकालते हैं.
स्नेक फेस्टिवल
फेस्टिवल में जो जुलूस निकाला जाता है उसमें लगभग 2 घंटे तक चलने होते हैं. इस जुलूस की खासियत होती है कि इसमें सेंट डॉमिनिको की एक बड़ी मूर्ति लेकर ये लोग चलते हैं और उस मूर्ति को पूरी तरह से सांपो से ढक दिया जाता है. इस मूर्ति पर रखे जाने वाले सांपों की संख्या लगभग 100 से भी अधिक होती है.
बता दें कि इस मूर्ति पर जितने भी सांप रखे जाते हैं उनमें से एक भी सांप जहरीला नहीं होता. इस जगह के स्थानीय सपेरे मार्च महीने से ही इस फेस्टिवल को मनाने की खातिर ऐसे सांपों को इकट्ठा करने में लग जाते हैं जो जहरीले नहीं होते.
स्नेक फेस्टिवल
यहां के लोगों का मानना है कि मूर्ति पर रखे जाने वाले सांपों में से एक भी सांप नीचे नहीं गिरने चाहिए. अगर ऐसा होता है तो उसे ‘बैड लक’ समझा जाता है.
इस जुलूस को निकालने की शुरुआत औरतों और पुजारियों के द्वारा की जाती है जो खूबसूरत परिधानों से सजे होते हैं. और इनके द्वारा खास तरह की मिठाई भी लोगों को बांटी जाती है जिसे ‘कियम्बेली’ नाम से जानते हैं.
तो दोस्तों इस तरह हर साल मई के महीने में इटली के कोक्युलो शहर में स्नेक फेस्टिवल धूमधाम से मनाया जाता है. लेकिन आपको डरने की कोई बात नहीं है क्योंकि इस फेस्टिवल में जितने भी सांपों को शामिल किया जाता है वे जहरीले नहीं होते हैं. तभी तो लोग सांपों को अपने शरीर पर आसानी से लपेट लेते हैं और जश्न को जमकर एंजॉय करते हैं.

Don't Miss! random posts ..