ENG | HINDI

छुट्टी के लिए सिपाही ने दिया ऐसा कारण, जानकर अफसर भी शर्मा गए होंगे

छुट्टी के लिए

छुट्टी के लिए – छुट्टी मांगना, दूसरों से पैसे मांगने से भी ज्यादा मुश्किल होता है।

फिर आप स्कूल स्टूडेंट हों या किसी बड़ी कंपनी के कर्मचारी, छुट्टी मिलना हमेशा एक बड़ा मुद्दा ही होता है। कुछ लोग तो इतनी छुट्टी मांगते हैं कि सारी बीमारियां खत्म हो जाती हैं और परिवार में कोई मारने के लिए भी नहीं बचता।

वैसे सच कहें तो बाकी प्रोफेशन का तो फिर भी ठीक है। मगर नागरिक की सुरक्षा में लगे पुलिस व आर्मी आदि के सिपाहियों के लिए तो छुट्टी किसी सुहाने सपने की तरह होती है। आम आदमी को जहां त्यौहारों पर अवकाश होता है। वही इन्हें इस दौरान डबल काम करना पड़ता है। इस वजह से इन्हें परिवार की शिकायतों का भी सामना करना पड़ता है।

पुलिसवालों को भी छुट्टी लेने की इच्छा होती है, और वो इसके लिए अर्जी भी देते हैं।

लेकिन अक्सर ही इसे ख़ारिज कर दिया जाता है। मगर इस बार एक सिपाही ने अपनी छुट्टी के लिए अर्जी में ऐसा कारण दिया कि उसके सीनियर मना ही नहीं कर पाए। हालांकि आपको यह कारण जानकार हंसी जरूर आएगी।

छुट्टी के लिए

यूपी की घटना – 

यह घटना उत्तरप्रदेश के महोबा जिले के कोतवाली थाने में हुई है। थाने के एक कांस्टेबल सोम सिंह काम के प्रेशर से परेशान हो गए थे और परिवार को समय देना चाहते थे।  इसलिए उन्होंने अवकाश की अर्जी लगाने की ठानी।

छुट्टी के लिए

अर्जी में लिखा ये

कांस्टेबल सोम सिंह को 23 जून से 30 दिनों की छुट्टी चाहिए थी। इतने लंबे अवकाश के लिए उन्होंने कारण लिखा – परिवार बढ़ाने हेतु। बेशक यह सहज सी बात है। लेकिन अपनी एप्लीकेशन में ऐसा कौन लिखता है भला? आप लिख सकते हैं क्या?

छुट्टी के लिए

मिली ज्यादा छुट्टी 

जी हां। छुट्टी के इस कारण के साथ ही एक रोचक बात यह है कि सीनियर अधिकारी ने इस पर आपत्ति भी नहीं जताई। बल्कि शायद वो इस दर्द को समझते थे, इसलिए उन्होंने कांस्टेबल को 30 के बजाए 45 दिनों की छुट्टी को मंजूरी दे दी।

छुट्टी के लिए

अर्जी हुई वायरल 

कांस्टेबल के इस एप्लीकेशन की कॉपी सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। इसके बाद लोगों ने इस पर कई तरह के कमेंट्स भी किए।

छुट्टी के लिए

क्या नकली है यह अर्जी?

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सोम सिंह का कहना है कि उनके दोस्तों ने इस तरह का मजाक किया है। वहीं पुलिस अफसर का भी कहना है कि उन्हें कभी सोम सिंह की ऐसी कोई एप्लीकेशन मिली ही नहीं। उन्होंने जांच शुरू कर दी है कि यह मजेदार छुट्टी की अर्जी कहां से आई?

छुट्टी के लिए

खैर यह लीव एप्लीकेशन असली है या नकली, इसे रहने देते हैं। लेकिन अगर आपकी अभी शादी हुई है और आपके सुपीरियर जरा उदार किस्म के हैं तो आप छुट्टी के लिए यह अनोखा तरीका भी आजमा सकते हैं। क्या पता कब किसका दिल पिघल जाए?

Don't Miss! random posts ..