ENG | HINDI

एक मैच पाकिस्‍तान के लिए खेल बैठे थे सचिन

सचिन खेले पाकिस्‍तान के लिए

सचिन खेले पाकिस्‍तान के लिए – 15 नवंबर, 1989 में सचिन तेंदुलकर पहली बार इंटरनेशनल मैच का हिस्‍सा बने थे लेकिन ऐसा पहली बार नहीं था तब वो इटंरनेशनल क्रिकेट में आए हों।

इससे पहले भी सचिन तकरीबन दो साल पहले भारत की प्रतिद्वंदी टीम पाकिस्‍तान का हिस्‍सा रह चुके हैं। इस दिलचस्‍प किस्‍से को सचिन की बायोग्राफी ‘प्‍लेइंग इट माई वे’ में भी जगह दी गई है।

20 जनवरी 1987 को सचिन 14 साल तक के भी नहीं थे। वहीं पाक टीम भारत के दौरे पर आई हुई थी।

मुंबई के ब्रेबोर्न स्‍टेडियम में प्रैक्टिस मैच चल रहा था, 40 ओवर के इस मैच में जब आखिरी घंटा चल रहा था तब पाकिस्‍तान के दो सीनियर क्रिकेटर जावेद मियांदाद और अब्‍दुल कादिर आराम फरमाने होटल चले गए। तब पाक टीम के कप्‍तान इमरान खान सीसीआई के कप्‍तान हेमंत केंकरे के पास गए और उन्‍हें कहा कि उनके पास फील्‍डर कम हैं और उन्‍हें 3-4 खिलाडियों की जरूरत है।

तब दो लड़के वहीं टहल रहे थे जो कि सचिन तेंदुलकर और खुशरू वसानिया था। सचिन ने हेमंत की तरफ उम्‍मीद भरी निगाहं से देखा और मराठी में पूछा – मी जाऊं का ?

इससे पहले की हेमंत हां कर पाते सचिन ग्राउंड तक भी पहुंच गए थे।

अगले 25 मिनट तक सचिन खेले पाकिस्‍तान के लिए, सचिन ने पाकिस्‍तानी टीम के लिए फील्डिंग की। मैच के दौरान एक वक्‍त ऐसा भी आया था तब कपिल देव का कैच सचिन की तरफ आया। इस कैच को पकड़ने के लिए सचिन खूब दौड़े लेकिन सफल नहीं हो पाए। इस कैच को ना पकड़ पाने की सचिन को बहुत निराशा भी हुई।

इसके करीब 2 साल और 8 महीने बाद सचिन ने पाक के खिलाफ ही अपने करियर का आगाज़ किया और इसके बाद तो जो भी हुआ वो सब आप जानते ही हैं।

इंटरनेशनल क्रिकेट करियर में सचिन तेंदुलकर ने कई शतक जड़े हैं।

सचिन के नाम 100 शतक बनाने का रिकॉर्ड दर्ज है। उनके इस खिताब के करीब रिकी पॉन्टिंग पहुंचे हैं लेकिन इसे तोड़ नहीं पाए हैं। उन्होंने कुल 71 शतक बना हैं। इस रिकॉर्ड का टूटना भी लगभग नामुमकिन लगता है। विराट कोहली इतने काबिल हैं कि वो इस रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं। कोहली अब तक इंटरनेशल करियर में 55 शतक बना चुके हैं।

इसके बाद  इंटरनेशन रिकॉर्ड बनाने में युवराज सिंह का नाम भी शामिल है। टी 20 विश्व कप 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ युवराज सिंह ने सिर्फ 12 गेंदों में अर्धशतक बनाने का रिकॉर्ड बनाया है। अब तक कोई भी खिलाड़ी इस रिकॉर्ड को तोड़ नहीं पाया है। इस अर्धशतक में युवराज सिंह ने एक ओवर की 6 गेंदों में 6 छक्के  लगाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया था।

क्रिकेट का कोई भी रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली के बिना पूरा नहीं हो सकता है। अब आप भी समझ गए होंगें कि क्रिकेट की दुनिया में सचिन तेंदुलकर क्‍या महत्‍व रखते हैं। अपने करियर में सचिन ने इतने ज्‍यादा रिकॉर्ड और रन बनाए हैं कि उन्‍हें क्रिकेट का भगवान कहा जाने लगा है। आप भी अगर सचिन के करियर पर नज़र डालें तो आपको समझ आ जाएगा कि उन्‍हें ऐसा क्‍यों कहा जाता है।

इस तरह से सचिन खेले पाकिस्‍तान के लिए – खैर, इतना तो यकीन के साथ कह सकती हूं कि आपको ये खबर पढ़ने के बाद हैरानी तो जरूर हुई होगी।

Don't Miss! random posts ..