ENG | HINDI

क्या कप्तानी के मामले में रोहित शर्मा पछाड़ देंगे विराट कोहली को

रोहित शर्मा की कप्तानी – आपका फेवरेट क्रिकेटर कौन है? विराट कोहली या रोहित शर्मा…?

ये तुलना आपको अतिशयोक्ति लग सकती है लेकिन क्रिकेट के प्रेमियों के बीच यही एक सवाल आजकल चर्चा का विषय बना हुआ है। हर कोई आजकल यही चर्चा कर रहा है कि क्या रोहित शर्मा, विराट कोहली से अच्छे कप्तान हैं? जिस तरह से सच्चिन तेंदुलकर कप्तानी में अपना लोहा नहीं जमा पाए उसी तरह से क्या विराट कोहली भी कप्तानी नहीं कर सकते हैं?

रोहित शर्मा की कप्तानी

ये जीत हैं वजह रोहित शर्मा की कप्तानी

इसकी सबड़ी वजह रोहित शर्मा की कप्तानी में इंडिया को मिली तो जीत है।

बीते दिनों में जहां इंडिया टीम ने विराट कोहली की कप्तानी में हार का सामना किया है वहीं रोहित शर्मा की कप्तानी में एशिया कप में टीम इंडिया को मिली जीत। इससे पहले रोहित शर्मा की कप्तानी में ही निदहास ट्रॉफी में भी टीम इंडिया चैंपियन बनी थी। क्योंकि कामयाबी ही सबकुछ होती है इसलिए इस कामयाबी ने यह बहस गरम कर दी है।

रोहित शर्मा की कप्तानी

विराट कोहली पर शक नहीं

विराट कोहली की काबिलियत पर किसी को शक नहीं है। लेकिन जिस तरह से बीते दिनों में टीम इंडिया ने उनकी कप्तानी में प्रदर्शन किया है और वे भी अपने मन की करते आए हैं व फैसले ले रहे हैं, उससे उन्हों चौतरफा आलोचना का शिकार होना पड़ा है। लोगों की राय बनी है कि जब मैच के मुश्किल लम्हों में विराट कोहली को सही फैसला लेना था तब वे अपनी मनमर्जी टीम पर थोप रहे थे। वहीं दूसरी तरफ रोहित शर्मा ने बतौर कप्तान एक से बढ़कर एक रोमांचक मैचों में जीत हासिल की है।

रोहित शर्मा की कप्तानी

आखिरी गेंद पर रोहित शर्मा ने दिलाई जीत

निदहास ट्रॉफी में मिली जीत से रोहित शर्मा सबके पसंदीदा बन गए थे। लेकिन एशिया कप के बाद वे सबके चहेते बन गए। क्योंकि एशिया कप में उन्होंने टीम इंडिया को आखिरी गेंद पर जीत दिलवाई थी। जबकि उस समय रोहित शर्मा क्रीज पर नहीं थे, लेकिन बतौर कप्तान उन्होंने अपनी टीम के खिलाड़ियों में ये आत्मविश्वास भरा है कि वो मैच को किसी भी मोड़ पर ले जाकर अपने कब्जे में कर सकते हैं। जिसके कारण ही बड़े से बड़े क्रिटिक औऱ क्रिकेट विशेषज्ञ भी इस बहस में उतर चुके हैं कि विराट कोहली और रोहित शर्मा की कप्तानी में बेहतर कौन है?
अगर आपको अब भी विश्वास ना हो तो एक नजर इन आंकड़ों पर डालते हैं जिसने क्रिकेट के कप्तानी का बाजार गर्म किया हुआ है। सबसे पहले बतौर कप्तान रोहित शर्मा की कामयाबी का आंकलन कर लेते हैं। पहले बात करते हैं बतौर कप्तान उन्हें मिली कामयाबी की।
रोहित शर्मा की कप्तानी में भारत ने बांग्लादेश को तीन विकेट से हराकर एशिया कप जीता।
रोहित शर्मा की कप्तानी में ही भारत ने बांग्लादेश को 4 विकेट से हराकर निदहास कप टी-20 जीता था।

बल्लेबाज भी बेहतरीन

अगर रोहित शर्मा की कप्तानी का आंकड़ा अच्छा है तो इसका मतलब यह नहीं है कि वे बल्लेबाज अच्छे नहीं है। रोहित शर्मा के बल्लेबाजी का आंकड़ा जब आप लो तो आंकड़ें भी उनके पक्ष में ही दिखेंगे। इसमें हम अंतरराष्‍ट्रीय मैचों के अलावा इंडियन प्रीमियर लीग की बात भी करेंगे। ऐसा इसलिए, क्योंकि आईपीएल में रोहित शर्मा की गिनती सबसे कामयाब कप्तानों में होती है। क्योंकि एक समय में आईपीएल में मुंबई टीम जब बेकार साबित हो रही थी तब रोहित शर्मा ने ही अपनी कप्तानी से उसकी किस्मत बदली थी। यह कोई कम बात है कि रोहित शर्मा अपनी कप्तानी में अब तक तीन बार मुंबई इंडियंस को चैंपियन बना चुके हैं। कुछ अन्य आंकड़े उनके पक्ष में-
2013 में रोहित की कप्तानी में मुंबई ने चेन्नई को 23 रनों से हराया था।
2015 में रोहित की कप्तानी में मुंबई ने फिर चेन्नई को 41 रनों से हराकर खिताब जीता।
2017 में रोहित की कप्तानी में मुंबई ने पुणे को 1 रनों से हराया था।

रोहित शर्मा की कप्तानी

विराट कोहली का आईपीएल में नहीं चला जादू

इसके विपरीत विराट कोहली का आईपीएल में जादू नहीं चला। 2015 और 2016 में तो फिर भी बंगलुरु की टीम टॉप 3 में रही थी लेकिन 2017 और 2018 में तो टीम की हालत बहुत ही खराब हो गई थी। 2017 में टीम आठवीं और 2018 में छठी पायदान पर थी। टीम का यह प्रदर्शन और भी आलोचनात्मक इसलिए हो जाता है क्योंकि तब बंगलुरु की टीम में सबसे ज्यादा खतरनाक खिलाड़ी इस टीम में शामिल थे।

हालिया मैचों में विराट का बतौर कप्तान प्रदर्शन

इसमें कोई दोराय नहीं है कि विराट कोहली दुनिया के सबसे अच्छे बल्लेबाज हैं। वह दुनिया की किसी भी टीम के खिलाफ किसी भी मैदान में उतर सकते हैं और अपनी बल्लेबाजी से पूरे मैच का कायापलट कर सकते हैं। वे सबसे ज्यादा रन भी बना सकते हैं। लेकिन तौर कप्तान वे प्रत्येक बल्लेबाज को उनको रोल समझाने में विफल रहते हैं। दक्षिण अफ्रीका में और उसके बाद इंग्लैंड में भारतीय टीम टेस्ट मैचों में जीत के बहुत करीब तक पहुंची, लेकिन बाजी हाथ से फिसल गई।

जानकारों का मानना है कि इन टेस्ट मैचों में विराट कोहली ने अव्वल तो सही प्लेइंग 11 नहीं खिलाया, दूसरा वो अपने खिलाड़ियों को उनका रोल सही तरीके से ‘एक्सप्लेन’ नहीं कर पाए।

इन सब कारणों से ही विराट कोहली से कप्तानी में रोहित शर्मा बीस साबित होते हैं।

Don't Miss! random posts ..