ENG | HINDI

इतनी बड़ी महारानी होने के बाद भी बच्चे को घर पर जन्म देंगी राज घराने की बहू

बच्चे को घर पर जन्म

बच्चे को घर पर जन्म – अगर हमारे पास थोड़ा सा भी पैसा हो जाता है तो हम अपने पड़ोसियों के सामने इतना शो ऑफ करना शुरू करते हैं कि पूछिये मत.

जिस सोसाइटी में रहते हैं वहीँ के लोगों के सामने खुद को इतना ऊपर दिखाने की कोशिश करते हैं कि जैसे बहुत बड़ी सोसाइटी से आए हैं या फिर बहुत अमीर हों, लेकिन इस दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो कहने को तो राजा हैं, लेकिन व्यवहार एक आम इंसान की तरह.

आजकल जब कोई महिला प्रेग्नेंट होती है तो शुरुआत से ही वो किसी अस्पताल में अपने चेकउप के लिए जाने लगती है. अपनी हैसियत के अनुसार वो हॉस्पिटल में ही बच्चे को जन्म देती है, लेकिन इस दुनिया का एक ऐसा देश है, जहाँ को महारानी अपने बच्चे को घर पर जन्म देंगी.

आज किसी को आपने ये कहते नहीं सुना होगा कि बच्चे को घर पर जन्म दिया हो.

लोगों को लगता है कि घर पर बच्चे को जन्म दिलाने वाली दाइयां लापरवाही कर सकती हैं और माँ और होने वाले बच्चे दोनों को नुकसान पहुँच सकता है, लेकिन ऐसा नहीं है.

आज भी आप घर पर नार्मल डिलीवरी कर सकती हैं. घर पर भी आपका बच्चा हेल्दी हो सकता है.

भले ही हमारे यहाँ के लोगों का विश्वास इसपर से उठ गया हो, लेकिन अभी भी कुछ देश ऐसे हैं जहाँ की महिलाएं घर पर ही बच्चे को जन्म देना उचित समझती हैं.

एक ऐसा ही मामला सामने आया है राज घराने का. जी हाँ, प्रिंस विलियम की पत्नी केट मिडलटन प्रेग्नेंट हैं और इस बार वह चाहती हैं कि उनके बच्चे का जन्म अस्पताल में नहीं बल्कि राजमहल में हो. ये सुनकर आपको हैरानी हो रही हो, लेकिन ये सच है. इसके लिए वह मिडवाइव्स यानी दाई की मदद लेंगी. केट ने अपने दोनों बच्चों जॉर्ज ओर चारलोट को अस्पताल में ही जन्म दिया है. लेकिन अब जब वो तीसरे बच्चे को जन्म देने वाली हैं तो अस्पताल के बदले घर में  दाई की मदद से ये काम करना चाहती हैं.

एक खबर के मुताबिक़ प्रेग्नेंट केट अपने तीसरे बच्चे को घर पर जन्म देना चाहती हैं.

लाज़मी है ऐसा करने के लिए केट को अपने पति से सलाह तो लेनी ही थी. केट ने इस बारे में प्रिंस विलियम से बात की है और वो उन्‍हें सपोर्ट करने के लिए तैयार हैं. इसका मतलब ये हुआ कि बच्चे को अस्पताल के बदले घर पर जन्म देने की बात से प्रिंस को कोई आपत्ति नहीं है.

वो पानी पत्नी और दाई दोनों पर विश्वास दिखा रहे हैं.

एक बात तो साफ़ है कि जब राज घराने से ऐसी खबर आ रही है तो साफ़ है कि वहां की आम जनता भी इस तरह का कदम उठाने में सक्षम होगी. वो इसपर अधिक विश्वास कर सकेंगे. ये बहुत ज़रूरी भी है. आमतौर पर आजकल के हॉस्पिटल बिना कुछ सोचे समझे झट से प्रेग्नेंट महिला का ऑपरेशन करने के लिए तैयार हो जाते हैं.

बच्चे को घर पर जन्म – इस तरह की बातों से न केवल महिलाओं का उत्साह बढ़ेगा, बल्कि उनके घर वाले भी इस तरह का कदम उठाने में सहज रहेंगे. भारत में हर साल हज़ारों मामले सामने आते हैं जब नार्मल डिलीवरी को भी ओपेरट किया जाता है और मोटी कमाई की जाती है.

Don't Miss! random posts ..