ENG | HINDI

भारत ने खोजा कैंसर का सरल और नया इलाज

कैंसर का नया इलाज

कैंसर का नया इलाज – कैंसर एक लाइलाज बीमारी नहीं है लेकिन उससे कम भी नहीं है।

इसका इलाज इतना अधिक जटिल और महंगा है कि गरीब लोगों की जान इसका इलाज कराने में ही निकल जाती है। इसका एक ही इलाज है कीमोथैरेपी जिसमें इंसान पूरी तरह से कमजोर हो जाता है और बचने की भी गारंटी बहुत ही कम होती है। इस कारण ही लोग कैंसर से काफी डरते हैं। इसकी सबसे बड़ी समस्या है कि यह जल्दी डायगोनाइज़ नहीं हो पाती है जिसके कारण इसका इलाज शुरू करने में देर हो जाती है।

लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। हाल ही में भारत में कैंसर का नया इलाज खोजा गया है। इस इलाज के कारण कैंसर का अब महंगा इलाज नहीं कराना पड़ेगा।

कैंसर का नया इलाज

थूक से पता चलेगा कैंसर का

कर्नाटक के एक वैज्ञानिक ने एक ऐसी मशीन बनाई है जिसकी मदद से कैंसर का इलाज सस्ता हो जाएगा और इस शुरुआती अवस्था में ही कैंसर डायगोनाइज़ कर ली जाएगी। इस मशीन के जरिये कैंसर का पता लगाने के लिए आपको केवल थूकने की जरूरत होगी। आपके थूक की मदद से मशीन यह पता कर लेगी की आपको कैंसर है की नहीं?

कैंसर का नया इलाज

पहले होता था टेस्ट महंगा

पहले कैंसर डायगोनाइज़ करवाने के लिए जो टेस्ट करवाए जाते थे वे महंगे होते थे। जिसके कारण लोग यह टेस्ट करवाने से डरते थे। इस मशीन के बन जाने से गरीब लोगों को महंगे टेस्ट से निजात मिलेगी और शुरुआती अवस्था में ही कैंसर का पता चल जाएगा।

इससे दो तरह के कैंसर का चलेगा पता

  • मुंह के कैंसर
  • गर्भाशय कैंसर

कैंसर का नया इलाज

मुंह के कैंसर का चलेगा पका

इस मशीन से मुंह के कैंसर की जांच होगी। अगर किसी व्यक्ति के मुंह में कैंसर है तो यह मशीन उसकी जांच कर जानकारी देने में सक्षम होगी। इसके अलावा यह मशीन महिलाओं में होने वाले गर्भाशय कैंसर को भी डायगोनाइज़ कर पाएगा।

अन्य बीमारियां भी होंगी डायगोनाइज

इस मशीन से अन्य तरह की बीमारियां जैसे मधुमेह और डिप्रेशन भी डायगोनाइज हो पाएंगी। यह मशीन आपके थूक जांच कर यह बताने में सक्षम होगी कि कहीं आप डायबिटीज या डिप्रेशन से तो ग्रस्त नहीं है। इस तरह से, इस मशीन के जरिए तुरंत कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी का पता लगाया जा सकता है और साथ में डायबिटीज या डिप्रेशन का भी पता लगाया जा सकता है।

कैंसर का नया इलाज जिसका तीन राज्यों में किया गया टेस्ट

इस मशीन का परीक्षण तीन राज्यों के अस्पता ल में किया गया है। 200 से अधिक मरीजों की इस मशीन के जरिये जांच की गई है। शुरुआती अवस्था में ही मरीजों को उनकी बीमारियों के बारे में बता दिया। हाल ही में इस मशीन को बेंगलुरु में चल रहे फार्मा सम्मेलन में भी दिखाया गया है, जहां सभी ने पॉजिटिव संकेत दिए।

आयुष्मान भारत योजना में मददगार मशीन

कैंसर का नया इलाज – यह मशीन आयुष्मान भारत योजना में मददगार होगी। हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने झारखंड की राजधानी रांची से आयुष्मान भारत योजना शुरू की है जिसके अंतर्गत सरकार 2022 तक डेढ़ लाख हेल्थ सेंटर का निर्माण करने वाली है। इन हेल्थ सेंटरों में कैंसर व अन्य गंभीर बीमारियों का इलाज किया जाएगा। ऐसे में यह मशीन इस योजना को सफल बनाने में सहयोगी साबित हो सकती है।

Don't Miss! random posts ..