ENG | HINDI

48 गेंदों में चाहिए थे 4 रन, भारत की हार लग रही थी निश्चित, इस गेंदबाज ने आकर पलट दिया मैच

मुनाफ पटेल

मुनाफ पटेल – क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसमें आए दिन हार जीत चलती रहती है लेकिन 15 जनवरी 2011 की जीत को कोई भी भारतीय क्रिकेट प्रेमी नहीं भूल सकता है.

अगर आप भी एक क्रिकेट प्रेमी हैं तो ये तारीख पड़ते ही आपको भारत और दक्षिण अफ्रिका के बीच हुआ वो घमासान मैच याद आ ही गया होगा जिसमें सभी की ही सांसे रुक गई थी. भारत ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाज़ी करने का निर्णय लिया और उनका ये निर्णय बेहद ही खराब रहा. टीम इंडिया बैटिंग में कुछ खास नहीं कर पाई और 47.2 ओवर में 190 रन बनाकर ऑल आउट हो गई.

अब किसी भी टीम के लिए 50 ओवर के फ़ॉर्मेट में 191 रन बनाना कोई बड़ी बात नहीं थी. लेकिन बल्लेबाज़ी में नाकामी हाथ लगने के बाद भारतीय टीम के गेंदबाजों ने कमान संभाली और छोटा लक्ष्य देखते हुए एक शानदार पारी खेली. टीम इंडिया के बॉलर्स ने दक्षिण अफ्रिका के 8 खिलाड़ियों को 177 रनों पर ऑउट कर दिया. अब एक तरफ जहां दक्षिण अफ्रिका को 14 रनों की जरूरत थी वही दूसरी ओर टीम इंडिया को 2 विकेट्स की. दक्षिनअफ्रिका का जीतना अब थोड़ा मुश्किल हो चुका था.

मुनाफ पटेल

जैसे-तैसे कर के दक्षिनअफ्रिका के पुछ्ल्ले बल्लेबाज ने धीमी गति से स्कोर को आगे बढ़ाया और अपनी टीम को 177 रनों से 187 रनों पर ले आया. अब अक्षिणअफ्रिका को मैच जीतने के लिए मात्र 4 रनों की जरूरत थी जबकि गेंदे 48 बची हुई थी. अब भारत की हार निश्चित लग रही थी. लेकिन तभी कुछ ऐसा हुआ जिसने पूरा खेल ही पलट डाला. मैदान पर एक ऐसा करिश्मा हुआ जिसे आज तक कोई भी भारतीय क्रिकेट प्रेमी नहीं भूला सका.

मुनाफ पटेल

टीम इंडिया की तरफ से अब गेंदबाजी करने उतरे मुनाफ पटेल. और मुनाक ने एक ऐसा कारनामा कर दिखाया जिस से पूरा देश खुशी में झूम उठा. मुनाफ पटेल ने दक्षिण अफ्रिका के खिलाफ़ 43वा ओवर खेलते हुए विरोधी टीम के दोनों ही खिलाड़ियों को पवेलियन का रास्ता दिखा दिया और टीम इंडिया को ऐतिहासिक जीत दिला दी. मुनाफ ने अपने इस ओवर में 2 रन खाते हुए सामने वाली टीम के दोनों विकेट ले लिए.

मुनाफ पटेल

मुनाफ पटेल की बदौलत भारतीय टीम दक्षिण अफ्रिका के खिलाफ़ 1 रन से जीत गई. मुनाफ पटेल ने इस मैच में 8 ओवर खेले जिनमें 28 रनों के नुकसान पर 4 शानदार विकेट लिए और दक्षिण अफ्रिका के खिलाड़ियों का मुँह बंद कर दिया.

दोस्तों चाहे जो भी मुनाफ पटेल को इस जीत के बदलें उस समय तो बहुत वाह वाही मिली लेकिन टीम में पार्शेलेटि के चलते उन्हें टीम इंडिया में ज्यादा समय तक जगह नहीं मिली.

हमारे देश में करपशन ना केवल राजनीति में है बल्कि हर जगह है.

आपकी इस बारे में क्या राय है हमें नीचे दिए गए कमेंटबॉक्स के जरिए जरूर बताए. क्या आपको नहीं लगता मुनाफ पटेल जैसे खिलाड़ियों को टीम इंडिया में खेलने का मौका दिया जाना चाहिए.

Don't Miss! random posts ..