ENG | HINDI

मुंबई माफिया भाग 3 – हाजी मस्तान, खून का एक कतरा बहाए बिना किया मुंबई पर राज

feature2

उस दिन मस्तान को समझ आया कि दुनिया का कोई भी धंधा हो उसमे आगे वही बढ़ता है जो पैसे के साथ साथ लोगों का भरोसा भी कमाता है.

ताउम्र मस्तान इसी फलसफे पर चलता रहा और अकूत दौलत शोहरत के साथ साथ उसने लोगों का भरोसा भी कमाया.

मस्तान मुंबई का बड़ा तस्कर बन चूका था, फिर उसकी मुलाक़ात हुयी मुंबई के दुसरे हिस्से में राज करने वाले वरदा भाई से.

दोनों में अपराधी होने के अलावा जो एक और सामान बात थी वो थी दोनों ही अपने अपने इलाके के लोगों के मसीहा थे.

दोनों की जोड़ी जम गयी और शुरुआत हुयी के ऐसी दोस्ती की जो मरते दम तक बनी रही.

12cc676639f3938f23df5787bd40c225

1 2 3 4 5 6

Don't Miss! random posts ..