ENG | HINDI

कास्टिंग काउच पर इस हीरोइन ने किया बड़ा खुलासा

फिल्मों में कास्टिंग काउच

फिल्मों में कास्टिंग काउच, बॉलिवुड से हॉलिवुड की एक ऐसी सच्चाई जिसका जिक्र अक्सर खबरों से सनसनी मचा देता है।

कभी किसी बड़े प्रॉड्यूसर के… तो कभी किसी हीरों या डायरेक्टर के राज खोलता है। फिल्मों में कास्टिंग काउच को लेकर कई बार कई बड़े खुलासे किये जा चुके है। कई बार तो अभिनेत्रियों के साथ-साथ कई बड़े अभिनेताओं ने भी कास्टिंग काउच के उत्पीड़न मामलों का खुलासा किया है।

इस बार फिल्मों में कास्टिंग काउच का खुलासा साउथ फिल्मों में बतौर सह कलाकार काम कर रही एक्ट्रेस अमानी ने दिया है, अमानी ने अपने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि मुझे अक्सर कई प्रोडक्शन कंपनी से फेन आया करते थे, और वो मुझे कहा करते थे कि तुम अपनी मां के बिना गेस्ट हाउस पर मिलने आओं. मैं उन लोगों की नियत भाप जाती थी। मैंने कभी अपने काम को लेकर अपने सम्मान के साथ सौदा नहीं किया।

आखिर क्या है फिल्मों में कास्टिंग काउच

कास्टिंग काउच पर

कास्टिंग काउच बी-चाउन और हॉलिवुड का एक ऐसा काला सच है जिससे इंकार नहीं किया जा सकता है। कास्टिंग काउच एक ऐसा शब्द है, जिसके नाम पर बड़े औहदे पर बैठे लोग फिल्म इंडस्ट्री में आये नए लोगों का शारीरिक और मांसिक शोषण करते है। ऐसा नहीं है कि यह शारीरिक शोषण सिर्फ हीरोइनों के साथ होता है, बल्कि इस मामले में कई बड़े अभिनेताओं ने भी खुलासे किये है।

बॉलिवुड से लेकर हॉलिवुड तक के ऐसे कई ऐसे बड़े चेहरे है, जिन्होंने कास्टिंग काउच पहले झेला है, फिर देर सवेर उसके राज भी खोले है।

फिल्मों में कास्टिंग काउच पर बयान बाजी

कुछ समय पहले की बात है जब कोरियोग्राफर सरोज खान ने कहा था… कि ये फिल्म इंडस्ट्री की सच्चाई है। हर कोई लड़कियों पर अपना हाथ साफ करने की कोशिश करता है। तो वहीं इस मामले पर सलमान खान ने कहा था कि किसी को भी गलत तरीके से ब्लैकमेल कर के काम देना या करवाना गलत है, ऐसे लोगों को चुन-चुन कर मारना चाहिए।

कास्टिंग काउच पर

वहीं इस कास्टिंग काउच का शिकार हुई एक अभिनेत्री रोड़ पर टॉपलेस प्रदर्शन करने बैठ गई थी। साउथ की हीरोइन श्री रेड्डी ने टॉलिवुड निर्माताओं, निर्देशकों और एक्टर्स पर काम के बदले यौन शोषण करने का आरोप लगाया था, जिसके बाद रेड्डी ने मांग की कि फिल्म उद्योग में मूल तेलुगु स्ट्रग्लिंग एक्ट्रस को 75% मौका देना चाहिए।

कास्टिंग काउच के मामले में बड़े-बड़े दिग्गजों ने अपनी अलग-लग राय दी है। इस लिस्ट में शुत्रुध्न सिंहा का नाम भी शुमार है। उनका तो इस मामले पर कहना था कि फिल्म जगत में उपर जाने की यह एक सीढ़ी है, इसमें कुछ गलत नहीं है।

लेकिन अब अगर इन सब के बयानों पर बात की जाये तो काम के लिए किसी का शारीरिक शोषण करना किसी भी मायने में सही नहीं ठहराया जा सकता। इस मामले में बदलाव और सुधार की उम्मीद हर इंसान को खुद खुदसे ही रखनी होगी। कि अगर वह खुद किसी उच्च दर्जे के व्यक्ति की बात नहीं मानता, तो कोई उस पर दबाव नहीं डाल सकता। अगर आप गलत नहीं करेंगे और ना ही गलत का साथ देंगे तो ही सुधार संभव है।

Don't Miss! random posts ..