ENG | HINDI

महिला बॉस या पुरुष बॉस कौन होते हैं बेहतर !

महिला बॉस या पुरुष बॉस

महिला बॉस या पुरुष बॉस – हमारे देश में आज भी लोगों की धारणा है कि महिलाओं की बुद्धि मोटी होती है यानी कि उनमें काबिलियत की पुरुषों के मुकाबले कमी होती है.

अगर आप भी यही सोचते हैं तो मैं आपको बता दूं कि आपकी ये धारणा पूरी तरह गलत साबित हो चुकी है. क्योंकि महिलाएं बहुत ही काबिल और हर मामले में परफेक्ट होती है.

हाल ही हुए एक रिसर्च में इस बात का खुलासा किया गया है कि एक बॉस के रूप में महिलाएं पुरुषों के मुकाबले अधिक बेहतर साबित होती है.

महिला बॉस या पुरुष बॉस –

महिला बॉस या पुरुष बॉस

महिलाएं अपने सभी कर्मचारियों के साथ एक जैसा व्यवहार करती हैं. किसी के लिए कोई ऐसे लक्ष्य को वे तय नहीं किया करती है जिन्हें पूरा करने में कर्मचारियों को मुश्किलें हों.

अपने कर्मचारियों और सब ऑर्डिनेंस के बीच बेहतर तालमेल रखने में महिला बॉस माहिर होती है.

महिला बॉस हर हाल में टीम में सकारात्मक माहौल को बनाए रखने पर जोर देती हैं और वे ऐसा करने में सफल भी होती है. इतना ही नहीं सभी कर्मचारियों को समान रुप से आगे बढ़ने का मौका ज्यादा से ज्यादा देती है.

महिला बॉस या पुरुष बॉस

‘द वर्क्स’ के द्वारा किए गए अध्ययन में 2.7 करोड़ कर्मचारियों को शामिल किया गया था और उन्हीं के द्वारा दिए गए जवाब के आधार पर इस परिणाम को घोषित करते हुए इस बात का दावा किया गया कि पुरुष बॉस के मुकाबले महिला बॉस बेहतर होती है.

अध्ययन की माने तो ऐसे दफ्तरों में जहां की बॉस महिला होती है वहां पर कर्मचारियों का अपने काम को लेकर संतुष्टि का स्तर काफी बेहतर होता है. उन दफ्तरों के मुकाबले जहां के बॉस पुरुष होते हैं.

अध्ययन में इस बात का भी दावा किया गया है कि महिला बॉस अपने कर्मचारियों के अच्छे प्रदर्शन करने पर उनकी तारीफ खुले दिल से किया करती हैं.

ऐसे मे कर्मचारियों के दिमाग में सकारात्मक सोच बनी रहती है. जिसकी वजह से वे हर कार्य को बढ़-चढ़कर सच्चे दिल से करते हैं.

महिला बॉस या पुरुष बॉस के अध्ययन के आधार पर इस बात को बताया गया है कि किसी बोर्ड या फिर मैनेजमेंट के स्तर पर अगर महिला कर्मचारियों की संख्या अधिक होगी तो हो सकता है कि उस कंपनी का प्रदर्शन और भी बेहतर हो.

तो आखिर इस अध्ययन ने इस बात का दावा करते हुए साफ कर दिया कि महिलाएं बॉस के रूप में पुरुष बॉस के मुकाबले बेहतर होती है. अब बात महिलाओं की हो रही है तो दो चार शब्द मैं और भी बता दूं कि महिलाएं वो होती है जो अपने घर-परिवार को तो भली-भांति संभालती है ही साथ ही पैसा कमाने के मामले में भी किसी पुरुष से कम नहीं होती. अपने हर कार्य को बखूबी निभाना तो कोई महिलाओं से सीखे. आज के समय में हर कार्यक्षेत्र में महिलाओं की सहभागिता है. फिर चाहे बात देश की सुरक्षा में लगी महिलाओं की हो, राजनीति में महिलाओं के सक्रियता की हो, बिजनेस वुमन के रूप में महिलाओं की काबिलियत की बात हो, या फिर एक गृहिणी के तौर पर ही क्यों ना हो महिलाएं हर मामले में बेस्ट होती है.

महिला बॉस या पुरुष बॉस ? कौन बेहतर? लेकिन अफसोस, कि आज भी हमारे इस पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं को तरह तरह से प्रताड़ित किया जाता है. महिलाओं के इतने सशक्त होने के बावजूद भी देश में दहेज प्रथा जैसी कुप्रथा अपना पैर पसारे हुए है. प्रतिदिन बलात्कार जैसी घटनाएं कम होने का नाम नहीं लेती और ना जाने जाने क्या-क्या. ना जाने कब महिलाएं बिना किसी डर के इस समाज में जी पाएंगी.

Don't Miss! random posts ..