ENG | HINDI

62 साल से नहीं टूटा है टेस्ट में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आंकड़े का रिकॉर्ड

जिम लेकर

जिम लेकर – क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसमें कब आपके हाथ से पारी निकल जाए आपको खुद नहीं मालूम होता।

इसलिए तो क्रिकेट सबसे बड़ा सट्टे का बाजार होता है। जहां लोग अरबों रुपये सट्टे में लगाते हैं और हारते व जीतते हैं। इसलिए क्रिकेट में किसी भी तरह की भविष्यवाणी करनी मुश्किल होती है। इसी तरह से क्रिकेट में कई सारे रिकॉर्ड बनते हैं और कई सारे रिकॉर्ड हर मैच में टूटते भी हैं।

जिम लेकर

नहीं टूटा अब तक एक रिकॉर्ड

रोज नए रिकॉर्ड बनने और टूटने के बीच में एक ऐसा भी रिकॉर्ड है जो अब तक नहीं टूटा है। यह 62 साल पहले की बात है जब एक स्पिनर ने अकेले ही अपने दम पर पूरी पारी समेट दी थी। ऐसा अविश्वसनीय प्रदर्शन अब तक केवल दो बार ही हुआ है और इसे केवल एक ही स्पिनर ने किया है।

हम बात कर रहे हैं इंग्लैंड के जिम लेकर की जिन्होंने दो बार यह कारनामा किया और उनके इस रिकॉर्ड को 62 साल बाद भी कोई नहीं तोड़ पाया है।

जिम लेकर

जब झटके थे सभी दस विकेट

एक क्रिकेट टीम में ग्यारह खिलाड़ी होते हैं। अब आप जरा सोचिए इनमें से दस आउट हो गए तो मैच खत्म हो ही जाएगा। ऐसा ही कुछ हुआ था जब इंगलैंड के जिम लेकर ने अकेले ही विपक्षी टीम के सभी दस खिलाड़ियों को अकेले ही आउट कर दिया था। यह 1956 की बात है। उस साल की 31 जुलाई को जिम लेकर ने यह कारनामा किया था।

अगर आप यह सोचते हैं कि यह रिकॉर्ड उन्होंने अपनी किस्मत से बना ली थी तो आप गलत हैं। क्योंकि इन्होंने इस ऑफ स्पिनर ने अद्भुत प्रदर्शन करते हुए एक टेस्ट मैच में 19 विकेट लेने का बेशकीमती कीर्तिमान अपने नाम किया था।

जिम लेकर

इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया सीरीज में समेटी थी पारी

अकेले पूरी पारी समेटने का कारनामा जिम लेकर ने इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया सीरीज में किया था। यह ऐतिहासिक मैच मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया सीरीज के चौथे टेस्ट में हुआ था। उस टेस्ट मैच की पहली पारी में वह पहले ही 37 रन देकर 9 विकेट चटका चुके थे। तब जिम लेकर पूरे 10 विकेट लेने से चूक गए थे, क्योंकि एक विकेट टॉनी लॉक ने ले लिया था। 31 जुलाई को टेस्ट के आखिरी दिन फॉलोआन खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी में 84/2 के स्कोर से आगे खेलना शुरू किया था।

जिम लेकर

जिम लेकर का विकेट लेने का सिलसिला जारी था। उनको आस्ट्रेलिया का कोई भी खिलाड़ी रोक नहीं पा रहा था, और यही हुआ। लेन मेडॉक्स का आखिरी विकेट एलबीडब्ल्यू हुआ और इसके साथ ही 53 रन देकर पारी के सभी 10 विकेट जिम लेकर के खाते में गए। यानी उस टेस्ट मैच में कुल 20 में से 19 विकेट उन्होंने अकेले ही समेट दिए।

अनिल कुंबले ने लिए 10 विकेट

अब तक केवल भारत के लेग स्पिनर अनिल कुंबले ने ही पारी में दस विकेट लेने के जिम लेकर के रिकॉर्ड को दोहराया है। यह कमाल कुंबले ने 1999 के दिल्ली टेस्ट में पाकिस्तान के खिलाफ 74 रन देकर 10 विकेट चटकाए थे। जिम लेकर का 1986 में ही इस दुनिया को छोड़ कर जा चुके हैं। लेकिन एक टेस्ट मैच में 19 विकेट लेने के उनके रिकॉर्ड को अब तक कोई नहीं तोड़ पाया है।

Don't Miss! random posts ..