ENG | HINDI

कुछ भी उपाय आजमाने से पहले जान लें बाल सफेद होने के मेडिकल कारण

बाल सफेद होने के कारण

बाल सफेद होने के कारण – आजकल हर किसी के बालों के सफेद होने की समस्या होने लगी है।

जिसेक कारण मार्केट में कई सारे ब्यूटी प्रोडक्ट्स का बाजार चल रहे हैं। लेकिन शायद ही कभी ये प्रोडक्ट्स सफेद बालों को ठीक करते होंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि इन प्रोडक्ट्स में ऐसी कोई चीज नहीं होती जो बालों को सही कर दें। अपितु कई बार तो इनके साइड इफेक्ट भी दिखने लगते हैं। इसलिए सफेद बालों में कोई प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने से पहले बाल सफेद होने के कारण जान लें।

बाल सफेद होने के कारण

बाल आजकल सफेद बालों में पोषक-त्तवों की कमी से भी होते हैं। ऐसे में अच्छा है कि हमेशा अपना खान-पान अच्छा रखें। इसके अलावा धूल व प्रदूषण की वजह से भी बालों के सफेद होने की समस्या होती है। इसलिए जिनके बाल गंदगी या धूप की वजह से सफेद होते हैं उनके बालों पर बाजार में मिलने वाले प्रोडक्ट्स कोई असर नहीं करते हैं।

इन सब कारणों के अलावा कुछ मेडिकल कारण भी होते हैं जिनकी वजह से बाल सफेद होते हैं। जब बाल किसी मेडिकल कारणों से सफेद होते हैं तो उन पर किसी भी तरह का नुस्खा काम नहीं करता। जैसे, शरीर में पोषण की कमी, थायराइड की समस्‍या, हार्मोन इंबैलेंस और तनाव आदि। ऐसे में ट्रीटमेंट कराना ही बेस्ट होता है। तो आइए आज जानते हैं कि बाल किन मेडिकल कारणों के वजह से भी होते हैं सफेद।

विटामिन बी12 की कमी होना

बाल सफेद होने के कारण

बाल सफेद होने का सबसे पहला लक्षण है कि आपके शरीर में विटामिन बी12 की कमी हो गई है। दरअसल विटामिन बी12 बालों में मेलानिन की कमी को पूरा करता है। ऐसे में अपने शरीर में विटामिन बी12 की कमी ना होने दें। अगर आप अपने शरीर को जरुरत के हिसाब से विटामिन बी12 देगें तो आपके बाल फिर से काले होना शुरु हो जाएंगे। इसलिए अफने खाने में आज से ही ज्यादा से ज्यादा विटामिन बी12 से संपूरण भोजन करना शुरू कर दें।

थायराइड ग्रंथी का सही काम ना करना

बाल सफेद होने के कारण

ये बालों के सफेद होने का सबसे प्रमुख कारणों में से एक है। बालों का सफेद होना या तो हाइपरथायराइड की वजह से हो सकता है या फिर हाइपोथायराइड की वजह से। ये बीमारी महिलाओं में अधिक होती है। हार्मोनल इंबैलेंस हार्मोन ज्यादा बढ़ने और घटने की समस्या होती है। इस बीमारी की वजह से बाल झड़ते भी हैं और सफेद भी होने लगते हैं।

वैसे तो इसका पूरा इलाज चलता है। लेकिन अगर ये बीमारी ज्यादा बड़ी नहीं हुई है तो इसको सही रखने के लिए खान-पान हमेशा अच्छा रखें। हल्दी-दूध बेस्ट उपाय है।

पीयूष ग्रंथी

बाल सफेद होने के कारण

पीयूष ग्रंथी भी बालों के विकास और सुधार के लिये जिम्मेदार होती है। जब यह ग्रंथी ठीक से काम नहीं करती तो उम्र तेजी से बढ़ने लगती है औऱ इसी से बाल सफेद होने बालों की समस्या होती है। इस ग्रंथी में समस्या आयोडीन की कमी से होती है। तो आज से ही अपने खाने में आयोडीन युक्त नमक खाएं और कैल्शियम युक्त भोजन लें।

एनीमिया

बाल सफेद होने के कारण

एनीमिया की वजह से भी बाल सफेद होने लगते हैं। अगर शरीर में खून की कमी है तो आप कमजोर महसूस करेगें और बाल भी सफेद होना शुरु हो जाएंगें। आजकल पोषक-त्तवों की कमी की वजह से कई युवा एनीमिया के रोग से ग्रेस्त हैं। इससे बचने के लिए रोज सुबह-शाम एक महीने तक अनार का जूस पिएं।

ये है बाल सफेद होने के कारण – तो अगर आप सफेद बालों की समस्या से निजात पानी चाहती हैं तो सबसे पहले अपना मेडिकल चेकअप करा लें। अगर इनमें से किसी कारण की वजह से बाल सफेद हो रहे हैं तो ये साथ में दिए गए उपायों को आजमाएं।

Don't Miss! random posts ..