ENG | HINDI

ऑटोवाले ने एक बार में हां कर दी तो लड़की ने रचा ली शादी

ऑटोवाले से शादी

ऑटोवाले से शादी – अगर आप मुंबई जैसे शहर में रहते हैं तो आपको भी पता ही होगा कि ऑटो के लिए कितनी मारामारी करनी पड़ती है।

इस शहर में तो ऑटो लेने के लिए भी लाइन में लगना पड़ता है। अगर आप दिल्‍ली या किसी और शहर से हैं तो आपको मुंबई जैसे शहर में कम्‍यूट करना बहुत मेहनत का काम लगेगा।

मुंबई मे रहने वाले लोग तो रोज़ ही इन चीज़ों से रूबरू होते हैं इसलिए उनके लिए उबाऊ नहीं बल्कि उनका रोज़ का रूटीन बन गया है लेकिन हम जैसे लोगों का क्‍या जो दिल्‍ली में आराम से रहते हैं और मुंबई की भागदौड़ तो उन्‍हें जानलेवा लगती है।

कुछ ऐसा ही दिल्‍ली की लड़की सुलोचना के साथ हुआ था। उसे क्‍या पता था कि मुंबई में तो एक ऑटो के लिए भी चप्‍पलें घिसनी पड़ती हैं। उसके साथ जो हुआ उसकी चर्चा पूरी मुंबई में हो रही थी।

जी हां, ये लड़की सिर्फ ऑटोवाले से शादी करने की वजह से मशहूर हो गई लेकिन इसकी शादी में क्‍या अनोखा था ये जानना बहुत जरूरी है।

साउथ दिल्‍ली से सुलोचना जॉब करने के लिए मुंबई गई थी लेकिन वहां पर ऑटो वालों से परेशान होकर जैसे कि वो डिप्रेशन में जाने लगी थी। रोज़ सुबह उठकर ऑफिस जाने के लिए ऑटो वालों के नखरे उठाना उसे अपने नखरों से ज्‍यादा लगने लगा था। सुलोचना ने बताया कि वो रोज़ बांद्रा ये गोरेगांव ऑफिस जाती थी।

उसने बताया कि उसे लगभग रोज़ ही पांच सौ से ज्‍यादा ऑटो वाले मना करते थे। हालात इतने बुरे थे कि वो डाकू का वेश बदलकर भी ऑटो रोकन की कोशिश करने लगी लेकिन उससे भी बात नहीं बनी। सुलोचना ने कहा ऐसे हालात में मुझे संतोष ऑटो ड्राइवर मिले जिन्‍होंने मुझे हां कहा और इतना ही नहीं जब मैंने ऑटो से उतरकर दो हज़ार का नोट दिया तो उनके पास छुट्टा भी था। अब ऐसे आदमी पर प्‍यार नहीं आएगा तो क्‍या आएगा।

सुलोचना ने कहा कि मैं संतोष की इस बात से इंप्रेस हो गई और उन्‍हें प्रपोज़ कर डाला। संतोष ने भी हां कर दी और अब दोनों अगले महीने ही शादी करने वाले हैं।

वैसे सुलोचना का ये आइडिया बहुत बढिया है क्‍योंकि इससे उसे पति भी मिल गया और ऑटो वाला भी।

इस बारे में जब संतोष से पूछा गया तो उन्‍होंने कहा कि मैं पिछले एक साल से ऑटो चला रहा हूं, जिसने मुझे ऑटो चलाना सिखाया है उसने पहले दिन ही बता दिया था था कि सवारी कहीं भी जाने को कहे ना ही बोलो। मैं वैसा ही करता आया और ऐसे करते-करते मेरे खाने तक के लाले हो गए।

इस सबसे परेशान हो गया और इसके बाद उन्‍होंने सोचा जो भी सवारी मिलेगी उसे वो हां कर देंगें। बस, उनकी पहली सवारी सुलोचना थी। इस तरह से सुलोचना ने ऑटोवाले से शादी करने का फैसला कर लिया.

आपको बता दें कि भारत में ऐसी घटनाएं पहले भी हो चुकी हैं और एक बार तो चीन की लड़की ने आगरा के चाउमीन बनाने वाले से इसलिए शादी कर ली थी क्‍योंकि उसने चाउमीन में जीरा, ज्‍यादा तेल और काला नमक नहीं डाला था।

ऐसे ही मज़ेदार किस्‍सों के बारे में जानने के लिए यंगिस्‍तान से जुड़े रहें।

Don't Miss! random posts ..