ENG | HINDI

फर्स्‍ट पीरियड की उम्र से जानें आगे चलकर कैसी रहेगी सेहत !

फर्स्‍ट पीरियड

फर्स्‍ट पीरियड – अगर आपको अपने फर्स्‍ट पीरियड की उम्र याद नहीं है तो ज़रा याद कर लीजिए क्‍योंकि आपके पहले पीरियड से आपकी मेडिकल कंडीशन का संबंध होता है।

जी हां, हैल्‍थ रिपोर्ट्स की मानें तो जिस उम्र में किसी लड़की का पहला पीरियड शुरु होता है तो उसका असर लड़की की सेहत पर भी पड़ता है। पहले पीरियड का संबंध कुछ बीमारियों से भी होता है।

आइए जानते हैं कि फर्स्‍ट पीरियड से आप अपनी सेहत के बारे में किन बातों के बारे में जान सकते हैं।

1 – वजन पर पड़ता है असर

पहली बार पीरियड आने को मेनार्के या रजोदर्शन भी कहा जाता है। शोधकर्ताओं की मानें तो अगर पहला पीरियड समय से पहले शुरु हो जाए तो युवावस्‍था के शुरुआती समय में वजन बढ़ने की संभावना रहती है और जीवन के बाद के सालों में मोटापा बढ़ने का खतरा रहता है। अगर रजोदर्शन जल्‍दी हो जाए तो इसका संबंध बचपन में हायर बॉडी मास इंडेक्‍स से होता है जिससे युवावस्‍था में मोटापा होने का खतरा रहता है।

2 – दिल की सेहत पर भी पड़ता है असर

अगर किसी लड़की के पहले पीरियड 10 साल की उम्र से पहले या 17 साल की उम्र के बाद शुरु हो तो उन लड़कियों को दिल की बीमारी होने का खतरा बहुत ज्‍यादा बढ़ जाता है।

अनुसंधानकर्ताओं ने 13 लाख महिलाओं पर की गई एक स्‍टडी में पाया कि जिन महिलाओं का मेन्‍सट्रुशन 13 साल की उम्र में शुरु हुआ था उनमें दिल की बामारी होने का खतरा कम था जबकि 10 की उम्र से पहले और 17 की उम्र के बाद पीरियड शुरु होने वाली महिलाओं में दिल की बीमारी, स्‍ट्रोक और हाई ब्‍लड प्रेशर जैसी बीमारियां होने का खतरा बहुत ज्‍यादा था।

2 – डायबिटीज़ के खतरे की घंटी

जिन महिलाओं के पीरियड्स औसत उम्र से पहले आते हैं उनमें टाइप 2 डायबिटीज़ का खतरा ज्‍यादा रहता है। रजोदर्शन का संबंध बीएमआई से होता है इसलिए यह टाइप 2 डायबिटीज़ का बड़ा कारण हो सकता है। प्‍यूबर्टी की शुरुआत का मतलब है शरीर में हार्मोनल बदलाव जिससे इंसुलिन प्रतिरोधक भी बढ़ जाता है।

3 – प्रेग्‍नेंसी होती है प्रभावित

जिन महिलाओं को छोटी उम्र में पीरियड्स आते हैं उनमें प्रेग्‍नेंसी के दौरान दिक्‍कतें आने का खतरा ज्‍यादा रहता है। ऐसी परिस्थिति में प्रीक्‍लैम्‍पसिया का रिस्‍क रहता है और अगर इस बीमारी का ईलाज ना किया जाए तो ये मां और होने वाले बच्‍चे दोनों के लिए ही खतरनाक साबित हो सकता है।

4 – ब्रेस्‍ट कैंसर

अगर किसी महिला को 12 साल की उम्र से पहले ही माहवारी शुरु हो जाती है तो उनमें सामान्‍य महिलाओं की तुलना में ब्रेस्‍ट कैंसर का खतरा 20 प्रतिशत तक बढ़ जाता है।

फर्स्‍ट पीरियड से ही अब आप खुद ही जान सकती हैं कि आपकी सेहत कितनी सुरक्षित है और आपको किस बीमारी का ज्‍यादा खतरा है। भले ही पीरियड्स बहुत दर्द देते हैं और आपके शरीर को कमज़ोर बना देते हों लेकिन हर महीने पीरियड आना आपके स्‍वस्‍थ होने का संकेत है। जिस उम्र में किसी लड़की का पहला पीरियड शुरु होता है तो उसका असर लड़की की सेहत पर भी पड़ता है। इस दर्द को सहने में ही महिलाओं की भलाई होती है। अगर आपको समय पर पीरियड नहीं आते हैं तो तुरंत किसी गायनाकोलॉजिस्‍ट से संपर्क करें।

Don't Miss! random posts ..