ENG | HINDI

दुनिया की पहली फ्लाइंग कार देखकर हैरान रह जायेंगे आप !

फ्लाइंग कार

फ्लाइंग कार – कार तो आपने बहुत चलाई होगी, लेकिन ज़रा सोचिए अगर आपके हाथ कोई ऐसी कार लग जाए जो उड़ भी सकती हो, तो क्या कहेंगे आप.

आपके होश ही उड़ जायेंगे. लड़के अपने पिता से कुछ और मांगने की बजाय यही कार मांगेंगे.

हद तो तब हो जाएगी जब लड़के इस कार के बदले अपनी गर्लफ्रेंड को भी छोड़ने को राज़ी हो जाएंगे. वैसे हम आपको बता दें कि दुनिया की पहली कार मार्किट में आ चुकी है.

यह खबर बिलकुल सच है. अब आप ऐसी कार चलाएंगे जो समय पर उड़ान भी भर सकती है.

पहली फ्लाइंग कार बन चुकी है. कंपनी का दावा है कि तीन साल बाद ये फ्लाइंग कार कस्टमर्स के हाथों में होगी.

इसके लिए प्री-बुकिंग भी हो चुकी है. इस फ्लाइंग कार को ऐरोमोबिल (AeroMobil) ने बनाया है. तो सुना आपने. बहुत जल्द ही ये आपके हाथ में होगी. इसमें आप उड़ान भी भर सकेंगे. है न मजेदार.

इस कार को लेकर बाज़ार में चर्चा गर्म है. कई इसके विपरीत बोल रहे हैं तो कईयों को इसके आने का बेसब्री से इंतजार है.

अभी इसके लिमिटिड एडिशन बने हैं और कंपनी प्रोडक्शन में इजाफा करने में जुटी है. एरोमोबिल यूरोपियन देश स्लोवाकिया की कंपनी है. ऐरोमोबिल का कहना है कि ये फ्लाइंग कार टू सीटर है, जो महज 3 मिनट में कार से प्लेन में तब्दील हो जाती है.

इस कार की ड्राइविंग रेंज 700 किलोमीटर और फ्लाइट रेंज 750 किलोमीटर है. बड़ी ही मजेदार कार होगी ये जो ज़मीन पर चलने के साथ ही आपको बिना किसी एक्स्ट्रा पैसे के आसमान की सैर भी कराएगी.

ऐसा नहीं है की आसमान में उड़ान भरने के साथ ही इसकी क्षमता रोड पर कम हो जाएगी. ऐसा बिलकुल नहीं है.

ज़मीन पर इस हाइब्रिड व्हीकल की टॉप स्पीड 160 किलोमीटर है और आसमान में इसकी रफ्तार 360 किलोमीटर प्रति घंटा है. इसका मतलब ये हुआ की आप इससे एक घंटे में १६० किलोमीटर की दूरी तय कर सकते हैं.

ये तो सपने जैसा हुआ.

इस कार की बुकिंग पहले ही शुरू की जा चुकी है. जेनेवा मोटर शो में वाहन निर्माता कंपनी डच पाल-वी ने दुनिया का पहला फ्लाइंग कार पेश किया है, जिसके लिए कंपनी ने प्री-ऑर्डर की शुरुआत कर दी है.

इसे 6,50,000 रुपए में बुक किया जा सकता है. इस कार में दो लोग सफर कर सकते है. इस फ्लाइंग कार की सबसे खास बात ये है कि यह 910 किलो वजन लेकर उड़ सकती है. इसकी बैगेज क्षमता 20 किलो है और फ्यूल टैंक की क्षमता 100 लीटर की है.

इसका मतलब ये हुआ की खुद सफ़र करने के साथ ही अपना भारी भरकम सामान भी ढो सकते है.

ये कार दुनिया की पहली फ्लाइंग कार होगी. इसमें दो इंजन लगे हैं.

ये दो इंजन इसके उड़ान भरने में सहायक होते हैं. इसे 0 से अपनी टॉप स्पीड तक पहुंचने में महज 9 सेकंड का समय लगता है. इसका मतलब ये हुआ कि महज़ कुछ ही सेकंड में आप आसमान में होंगे. वैसे एक बात तो तय है कि इसे चलाने के साथ ही इसे उड़ाने की तकनीक भी लोगों को सीखनी होगी.

तो देर किस बात की. अपनी इस चहेती कार को अभी बुक कराइए और सीखिए की इसे चलाते कैसे हैं तभी तो आप इसे उड़ा सकेंगे.

Don't Miss! random posts ..