ENG | HINDI

इन 5 कारों को सेकंड हैंड लेने में भी डरते हैं लोग

यूज्‍ड कार मार्केट

बहुत कम लोग ये बात जानते हैं कि भारत का यूज्‍ड कार मार्केट नई कार मार्केट से ज्‍यादा बड़ा है।

ऐसा इसलिए भी है क्‍योंकि लोगों को यूज्‍ड कार मार्केट में अपनी पसंद के ज्‍यादा ऑप्‍शन मिलते हैं। यूज्‍ड कार मार्केट में बायर्स अच्‍छी और बेहतर कारों को कम दाम में आसानी से खरीद सकते हैं।

हालांकि, कुछ ऐसी कारें भी हैं तो देखने और चलाने में तो अच्‍छी लगती हैं लेकिन लंबे समय के लिए इन्‍हें अपने पास रखने में आपको परेशानी हो सकती है। जी हां, कुछ कारें ऐसी हैं तो देखने में तो पॉवरफुल लगती हैं लेकिन अगर आप लंबे समय के लिए कोई यूज्‍ड कार खरीद रहे हैं तो कुछ बातों का ध्‍यान रखना चाहिए। आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि किन कारों को सैकेंड हैंड नहीं खरीदना चाहिए

फिएट पालियो

इसकी 1.6 जीटीएक्‍स वेरिएंट को अपने समय की सबसे फास्‍ट और पॉवरफुल कार माना जाता है। इस कार में 1.6 लीटर चार सिलेंडर पेट्रोल ईंजन लगा है जोकि बीएचपी पॉवर और 137 एनएम टॉर्क को जेनरेट करता है। इस कार को लेकर आपको एक परेशानी आ सकती है वो ये है कि इसके ईंजन पार्ट्स मिलना बहुत मुश्किल होता है। इसके अलावा अगर आप टॉप वेरिएंट नहीं लेते हैं तो आपको एयरबैग्‍स और एबीएस जैसे सेफ्टी फीचर्स से भी वंचित होना पड़ेगा।

शेवरले कैपटिव

इसकी 2.0 की परफॉर्मेस कई दूसरी स्‍पोर्ट्स यूटिलिटी व्‍हीकल्‍स से बेहतर है। जनरल मोटर्स ने भारत में अपनी कारों की बिक्री बंद कर दी है। इसलिए आप इसे कम दाम में खरीद सकते हैं लेकिन इसे दोबारा बेचने में दिक्‍कत आ सकती है।

मारुति किजाशी

सुजुकी की तरफ से भारत में लग्‍जरी कार में अब तक सिर्फ किजाशी को लॉन्‍च किया गया है। इस कार को सेकेंड हैंड मार्केट में लेने की सबसे बड़ी परेशानी यही है कि भारत में इसके गिने-चुने मॉडल्‍स को बेचा गया है। ऐसे में किजाशी को मेंटेन करने के लिए जापान से पार्ट्स इंपोर्ट करने पड़ेगा जोकि आपको बहुत महंगा पड़ सकता है।

फोर्ड फिएस्‍टा

उस वक्‍त की फोर्ड की कारों का मेंटेंस आज के दौर के मुकाबले बहुत महंगा हुआ करता था। इसका मतलब है कि इसका मेंटेंस आपको अब भी महंगा ही पड़ेगा।

शेवरले टवेरा

इस कार को टूर एंड ट्रैवल और कैब सर्विसेज़ के लिए ज्‍यादा इस्‍तेमाल किया जाता है। इसमें परेशानी ये है कि जनरल मोटर्स ने भारत में अपनी कारों की बिक्री बंद कर दी है। ऐसे में आप इसे कम दाम में खरीद तो सकते हैं लेकिन इसे दोबारा बेचने में दिक्‍कत होगी।

अगर आप सेकेंड हैंड कार खरीदने की सोच रहे हैं तो मेरी बात मानकर अपनी पसंद की लिस्‍ट से इन पांच कारों का नाम हटा दीजिए वरना सैकेंड हैंड कार का मेंटेंस करवाते ही रह जाएंगें। लेकिन अगर आपके पास खूब पैसा है और आप इस पैसे को बर्बाद करना चाहते हैं तो आप इन कारों को खरीद सकते हैं।

एक्‍सपर्ट्स की भी मानें तो आपको यूज्‍ड कार मार्केट से ये कारें नहीं लेनी चाहिए और अगर उस कंपनी ने भारत में बिक्री बंद कर दी है तो आपको उस कंपनी की कारों से तौबा ही कर लेनी चाहिए।

Don't Miss! random posts ..