ENG | HINDI

सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए करें ये काम !

सेल्फ कॉन्फिडेंस

नौकरी हो या फिर पढाई हर जगह सफलता के लिए कठोर परिश्रम और समर्पण के साथ साथ सेल्फ कॉन्फिडेंस होना बहुत जरूरी है.

यह आपके मुश्किल से मुश्किल काम को भी आसान बना सकता है. किसी भी ख़राब परिस्थितियों में आत्मविश्वास सबका डगमगा जाता है. मगर यदि आप कुछ सरल बातों का ध्यान रखें, तो हमेशा सेल्फ कॉन्फिडेंस से भरे रह सकते हैं.

चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ उपाय.

१ – बुनियादी चीजों पर ध्यान दें

स्लेफ़ कॉन्फिडेंस बढ़ने का सबसे पहला काम ये है की आपको अपनी बेसिक चीजों पर ध्यान देना पड़ेगा.  जिससे की अगर आप नौकरी कर रहे है तो आपका बेसिक नॉलेज होना चाहिए की उस जॉब में क्या करना है और कैसे करना है. इससे आपकी सेल्फ कॉन्फिडेंस तो बढ़ाती है ही और साथ ही काम करने में भी मन लगा रहता है.

आपके सेल्फ कॉन्फिडेंस पर ड्रेसिंग सेंस का भी बहुत बड़ा आसार पड़ता है. अगर आप अच्छी तरह तैयार होकर ऑफिस या किसी जगह जाते है तो लोग आपकी तारीफ़ तो करते ही है और साथ ही आपकी इम्प्रैशन भी उनपर अच्छी बन जाती है.  ध्यान रहे, आप जितने इंप्रेसिव दिखेंगे, आपके सीनियर्स पर आपकी बात का प्रभाव उतना ही ज्यादा होगा.

सेल्फ कॉन्फिडेंस

२ – सोच-समझकर बोलें

आप जैसे बोलते, बात करते हैं, सुनने वाला भी वैसे ही रिएक्ट करता है. इसलिए जो भी कहें, सोच-समझकर कहें. अपनी बात कहने के लिए सही समय और शब्दों का प्रयोग करें. ऑफिस के अपने करीबी दोस्तों से भी ऑफिस

में बात करते समय डेकोरम मेंटेन करें. प्रोफेशनल और पर्सनल लेवल पर बातचीत का अंदाज अलग होना चाहिए.

सेल्फ कॉन्फिडेंस

३ – आपने आपको बदले ना:

सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए सबसे जरूरी बात यह है की आप जैसे हैं वैसे ही रहे ज्यादा  स्मार्ट बनाने की कोशिश ना करें. कुछ लोग सीनियर्स को इंप्रेस करने के लिए ऑफिस में स्मार्ट लोगों की तरह बनने की कोशिश करने लगते हैं. इससे उनके भीतर मौजूद बेहविऔर सबके सामने आ ही नहीं पाते, इसलिए आप जैसे हैं, वैसे ही रहें. अपनी खूबियों को हमेशा अच्छी तरह से प्रेजेंट करें और खामियों को कम करने की कोशिश करें.

सेल्फ कॉन्फिडेंस

४ – ‘ना’ कहना सीखें

वर्कप्लेस पर दूसरों की मदद करना बहुत अच्छी बात है, लेकिन इसके चलते अपना नुकसान करना कौन सी अक्लमंदी का काम है. कई लोग खुलकर किसी काम को मना नहीं कर पाते, जिससे उन्हें बार-बार ऐसी चीजों से दो-चार होना पड़ता है, जो उनके सेल्फ कॉन्फिडेंस को गिरा देती हैं. ऐसे में हमेशा उन चीजों के लिए ‘ना” कहना बहुत जरूरी है, जो आपको पसंद नहीं हैं.

सेल्फ कॉन्फिडेंस

५ – पॉजिटिव सोचें, पॉजिटिव करें

सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए पॉजिटिव सोच का होना सबसे ज्यादा जरूरी है. एक पॉजिटिव विचार न सिर्फ हर परिस्थिति में बेहतर परफॉर्म करता है, बल्कि दूसरों के लिए भी प्रेरणा का जरिया बन जाता है. जब आप हमेशा

पॉजिटिव सोचेंगे, तो उसका असर आपके व्यक्तित्व पर भी पड़ेगा और आपके सेल्फ कॉन्फिडेंस का स्तर आपने आप बढ़ता जाएगा.

सेल्फ कॉन्फिडेंस

आप का सेल्फ कॉन्फिडेंस लेवल अगर बुहत कम है, तो यह कुछ उपाय आपने ज़िन्दगी में इस्तमाल करें और देखें की आपकी लाइफ कैसे बदलती है और आपकी सेल्फ कॉन्फिडेंस का स्तर कैसे बढ़ता है लेकिन एक बात का हमेसा ध्यान रखें की आप कभी भी ओवर कॉन्फिडेंस फील ना करें क्यूँकि ये आपकी बर्बादी का कारण बन सकता है.

Don't Miss! random posts ..