ENG | HINDI

आपकी अच्छी पर्सनालिटी बढ़ायेगी सेलरी और दिलायेगी प्रमोशन !

पर्सनालिटी

एक अच्छा लुक, पर्सनालिटी और गुड वे टू टॉक ना केवल आपकों लोगों के बीच आकर्षण का केन्द्र बनाता है, बल्कि आपकों आपकी प्रोफेशनल लाइफ में भी प्रगति और उन्नति की और ले जाता है।

आप लोग अक्सर पर्सनालिटी डवलपमेंट के बारे में सुनते रहते है, लेकिन सही मायनों में उन्हें एक बार अपनी रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बनाकर देखिये। आपकों आपकी निजी जिंदगी के साथ-साथ अपनी प्रोफेशनल लाइफ में भी इसके फायदे मिलेंगे।

आजकल की भागदौड़ और कॉम्पटिशन भरी जिंदगी में अच्छे लुक्स बहुत जरूरी है। इतना ही नहीं ये अच्छें लुक्स आपकों कॉन्फिडेंस भी देते है। इसलिए आज के अपने इस लेख के जरिये हम आपकों पर्सनालिटी डवलपमेंट के एक नहीं अनेक फायदों के साथ-साथ इसके तरिकें भी बतायेंगे।

पर्सनालिटी डवलपमेंट का सबसे पहला पड़ाव है आपकी अच्छी, सुडौल और आकर्षक बॉडी। जिसे बनाने के लिए आपकों एक्ससाइज या योगा को अपने रोजमर्रा की जिंदगी का एक अहम् हिस्सा बनाना होगा। क्योकि अगर आप अपना फिटनेस लेवल मेंटेन रखेंगे तो आपकी बॉडी पर्सनालिटी खिलकर सबके सामने आयेगी। इतना ही नहीं आपको बता दें कि योगा करने से आपकी चेहरे का ग्लो भी बढ़ता है। जरूरी नहीं है कि आप जिम जायेंगे, तो ही आपका शरीर फिट रहेगा। आप घर पर ही कसरत और योगा करके ही अपनी बॉडी पर्सनालिटी को डवलप कर सकते है।

पर्सनालिटी

पर्सनालिटी डवलपमेंट का अगला पड़ाव है अच्छे शरीर के बाद अच्छें कपड़ें, जिसके लिए आपकों सबसे पहले अपने कंफटजोन का पता होना चाहिए। पर्सनालिटी डवलपमेंट का यह सबसे बेहतर तरीका है। आपने ये तो सुना ही होगा कि जो दिखता है वहीं बिकता है। अपनी पर्सनालिटी सुधारने के लिए ये बहुत जरूरी है कि आप अपना ड्रेसिंग स्टाइल सुधारे। क्योकि अगर आप जब भी आप किसी से मिलने जाते है तो उसकी सबसे पहली नज़र आपके कपड़ों पर ही पड़ती है। इसी के साथ कहां किस तरह के कपड़े पहन कर जा रहे है ये भी बहुत जरूरी है। उदाहरण के लिए अगर आप इंटरव्यू देने जा रहे है तो आप फंकी या फिर ज्यादा कलरफूल कपड़े पहन कर नहीं जा सकते। हर Function और जगह के हिसाब से कपड़े पहनना आपके इस पड़ाव का अहम् हिस्सा है। इसी के साथ आपकों ये पता होना बेहद जरूरी है कि आप अच्छा दिखने के लिए जिस तरह के आउटफिट पहन रहे है, आप उसमें पूरी तरह से कंफट फील कर रहे है या नहीं।

आपकी अच्छी पर्सनालिटी

अब इन दोनों पडावों के बाद आप देखने में तो अच्छें लगने लगे है, लेकिन इसी के साथ अब आपकी बॉडी लैंग्वेज का अच्छा होना भी जरूरी है। बॉडी लैंग्वेज का मतलब है कि आप अपने सामने वाली कि बात पर किस तरह रियेक्ट (प्रतिक्रिया) करते है। उनसे मिलने आते और जाते वक्त आपके चेहरे के एक्सप्रेशन (हाव-भाव), चलने का ढ़ग आपकी अपकी पर्सनालिटी में चार चांद लगाते है।

इन सब के बाद अब अगर अपकी पर्सनालिटी को लेकर कुछ और जरूरी है तो वो है ऑफिस में आपके रहन-सहन, प्रजेंटेशन और कॉम्युन्केशन स्कीलस का अच्छा होना। क्योकि अब आपने अपने आप को तो चमका लिया है, लेकिन अगर दिमाग को नहीं चमकाया तो भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। क्योकि अच्छी पर्सनालिटी सिर्फ आपके बाहरी रूप से ही नहीं बल्कि आपके दिमाग से भी बनती है।

आपकी अच्छी पर्सनालिटी

ऑफिस में अपने सीनियर्स, कलिग आदि के साथ बात-चीत के दौरान आपका उबासी लेना, ध्यान ना देना, किसी दूसरे से बात करना या फिर फोन को छेड़ना आपकी प्रॉफेशनल लाइफ की मुश्किलें बढ़ा सकता है। साथ ही ऑफिस में मुंह लटका के घुमना, दूसरों के मामलों में टांग अड़ाना, ऑफिस में खुसर-पुसर(चुगली करना) आपकी प्रॉफेशनल इमेज गिरा सकता है।

अब अगर आप अपनी पर्सनालिटी में क्या करना और क्या नहीं करने है जैसे उपर दिये ये सभी सुधार कर लेंगे, तो आपकों एक अच्छे पैकेज की नौकरी कही भी मिल जायेगी और नौकरी है तो प्रमोशन भी।

Don't Miss! random posts ..