ENG | HINDI

मुस्लिम पार्टी विवाद पर कांग्रेस को बताया गया मुसलमानों की पार्टी, राहुल ने तोड़ी चुप्पी

मुस्लिम पार्टी

कई दिनों से चल रहे मुस्लिम पार्टी विवाद पर अब जा के कांग्रेस के मुख्य नेता राहुल गांधी ने चुप्पी तोड़ी है.

इस से पहले एक उर्दू अखबार ने इस विवाद पर कांग्रेस की तरफ से टिप्पणी की थी जिसको कांग्रेस नाटो द्वारा खारिज कर दिया गया था लेकिन अब राहुल गांधी ने खुद इस विषय पर अपनी आवाज उठाई है. राहुल ने मुस्लिम पार्टी पर अपनी राय देते हुए एक ट्वीट किया है, और इस ट्वीट को राहुल गांधी का बयान माना जा रहा है. और राहुल के इस बयान पर भाजपा ने पलटवार भी कर दिया है.

राहुल ने अपने ट्वीट से किसी की तरफदारी नहीं की है उन्होंने बस अपने ट्वीट के जरिए ये बताने की कोशिश कि है कि कांग्रेस पार्टी किसकी पार्टी है. उनका ट्वीट था “मैं पंक्ति में आखिर में खड़े व्यक्ति के साथ हूँ. शोषित, हाशिये पर खड़े और सताए गए लोगों के साथ हूँ. उनका धर्म, उनकी जाति, आस्था मेरे लिए खास मायने नहीं रखती, जिन्हें भी दर्द है पीडा है, मैं उन्हें गले लगाना चाहता हूँ. मैंन नफरत और डर को मिटाना चाहता हूँ. मुझे सभी जीवों से प्यार है. मैं कांग्रेस हूँ…”

राहुल का जैसे ही ये ट्वीट पब्लिक हुआ तभी कई नेताओं ने उन पर हमला बोल दिया, जिनमे सबसे आगे रहे संबितपात्रा, जिन्होंने रीट्वीट करते हुए कहा की “इस प्रकार आधे अधूरे ट्वीट कर जनता को बेवकूफ न बनाए. आपने जो बोला है कि कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है, उसपर देश से माफी मांगे. राहुल गांधी जी ने अपने ट्वीट के जरिए स्वीकारा है कि कांग्रेस एक मुस्लिम पार्टी है, लेकिन जिन्नावादी विचारधारा को देश आगे नहीं बढ़ने देगा. कांग्रेस और औवेसी की पार्टी में तुष्टिकरण की राजनीति करने की होड लगी हुई है.”

मुस्लिम पार्टी

इसके बाद राहुल गांधी पर हमला बोला भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता जीवीएलनरसिम्हा राव ने, जिसने लिखा कि “मुस्लिम पार्टी होने के बावजूद आप तीन तलाक बिल का विरोध कर मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ षड्यंत्र रचते हो, हाशिए पर रहने वाले लोगों को पार्टी होने के बावजूद आप पिछड़ी जाति आयोग को संवैधानिक दर्जा देने में अडंगा लगाते हो.” भाजपा के कई नेताओं ने राहुल पर बहुत पलटवार कर उनको मुस्लिम पार्टी का प्रवक्ता करार देने कि कोशिश की.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर अंत में वार करने वाले भाजपा के मुख्य नेता थे आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय जिन्होंने राहुल का ट्वीट करते हुए विरोध किया और कहा कि “इसके लिए एक शब्द है अंत्योदय, भारतीय जनता पार्टी का फाउंडिंगप्रिंसिपल. मुझे खु़शी है कि कांग्रेस अध्यक्ष अंतत भारतीयता में निहित होने में मूल्य की खोज कर रहे हैं.”

आपको शायद इस बात की जानकारी ना हो लेकिन पिछले हफ्ते कांग्रेस नेता राहुल गांधी मुस्लिम बुद्धिजीवियों से मिले थे और बताया जा रहा है कि उसी दौरान राहुल ने कहा था की कांग्रेस एक मुसलमानों की पार्टी है और तभी से भाजपा के नेता कांग्रेस पर हमलावर हैं और राहुल गांधी को देश से माफी मांगने के पिछे पड़े हैं साथ ही कांग्रेस को एक सांप्रदायिक पार्टी भी करार दिया जा रहा है.

Don't Miss! random posts ..