ENG | HINDI

बुर्ज खलीफा को तिरंगे के रंग में देखकर दंग रह जायेंगे आप सभी

बुर्ज खलीफा तिरंगे के रंग में

बुर्ज खलीफा तिरंगे के रंग में – दुनिया की सबसे ऊँची इमारत अगर आपके रंग में रंग जाए तो क्या बात हो.

कुछ ऐसा ही हुआ है भारत के लिए. हमारे देश का ध्वज हमारे सम्मान का प्रतीक है. ज़रा सोचिए अगर हमारे सम्मान को और भी बढ़ाने के लिए कोई देश अपना सर झुका दे तो क्या बात हो.

शायद ये हर किसी के लिए बहुत ही बड़ा क्षण होता है. सम्मान पाने के लिए हम अपना सबकुछ लगा देते हैं. ये तो कुछ ऐसा ही हो गया कि आपसे उम्र में बड़ा आदमी आपके सत्कार में बाहें फैलाकर और सर झुकाकर खड़ा रहे.

इससे न सिर्फ आपका सम्मान बढ़ता है, बल्कि सामने वाले का कद और भी बढ़ जाता है. वो हमारी नज़र में और ऊँचा उठ जाता है. कुछ ऐसे ही क्षण हुए हैं हमारे देश के साथ. दुनिया की सबसे ऊँची इमारत ने हमारे तिरंगे के रंग का आत्मसात किया और हमें सम्मान दिया. बुर्ज खलीफा तिरंगे के रंग में रंग गई.

बुर्ज खलीफा तिरंगे के रंग में – दुनिया की सबसे ऊँची इमारत बुर्ज खलीफा उस वक्त हर भारतीय के दिल में जगह बना गई जब वो तिरंगे के रंग में रंग गई.

वो वक्त बहुत ही खूबसूरत था, क्योंकि दुनिया के सबसे ऊँचाई पर भारत का झंडा था.

चार दिवसीय पश्चिम एशियाई देशों की यात्रा पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फिलीस्तीन पहुंच गए हैं. मोदी का संयुक्त अरब अमीरात भी जाने का कार्यक्रम था. उनके आगमन को देखते हुए कई शहरों में खास तैयारी की गई है.

दुबई के बुर्ज खलीफा तिरंगे के रंग में रंग दिया गया. इस तरह से किसी देश के प्राइम मिनिस्टर का स्वागत करना सच में गर्व की बात थी.

बुर्ज खलीफा की वो तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब देखी गई.

हर भारतीय उस तस्वीर को शेयर कर रहा है. सभी के लिए ये क्षण बड़ा ही गर्व भरा था. ऐसा स्वागत आज तक किसी ने नही किया. बुर्ज खलीफा दुनिया की सबसे ऊँची इमारत है. ऐसे में इसकी सफाई करना भी बहुत मुश्किल भरा होता है. हर बार सफाई करने से पहले अच्छी खासी तैयारी करनी होती है. सफाई कर्मचारी खुद को अच्छे से बांधते हैं. तार, पुली, हुक और बोर्ड हर बार संजीदगी से चेक किये जाते हैं. पूरी तैयार तैयार होने के बाद सफाई कर्मचारी बाल्टी, वाइपर और सफाई करने वाली बाकी चीजें लेकर धीरे धीरे नीचे उतरते हैं.

एक साथ कई सफाई कर्मचारी घंटों तक इसकी सफाई करते रहते हैं.

दुनिया की सबसे ऊँची इमारत है तो नखरे भी होंगे, इसलिए इसे साफ़ करने के लिए बड़े ही ट्रेंड लोग होते हैं.

इसे बड़े प्यार साफ़ किया जाता है. बुर्ज खलीफा को देखते हुए लोगों की गर्दन टेढ़ी हो जाती है. ऐसे में इसका तिरंगे के रंग में रंगना बड़े सम्मान की बता थी. बुर्ज खलीफा के साथ ही दुबई फ्रेम को भी तिरंगे के रंग में रंगा गया है. आपको बता दें कि अबु धाबी में रविवार को मोदी भारतीय समुदाय को संबोधित किया.

मोदी भी अपने इस स्वागत से बहुत खुश हुए और वो वहां के लोगों से जमकर मिले और उनका तहे दिल से शुक्रिया किया. मोदी ने अबु धाबी में बने पहले मंदिर का उद्घाटन भी किया. ये भारतियों के लिए गर्व की बात है.

Don't Miss! random posts ..