ENG | HINDI

भारत के तिरंगे से मिलते-जुलते हैं इन देशों के नेशनल फ्लैग !

नैशनल फ्लैग

नैशनल फ्लैग – हर देश की पहचान होती है उसके नैशनल फ्लैग से ।

नैशनल फ्लैग ना केवल देश की पहचान बताता है बल्कि उस देश के विचार और इतिहास को दर्शाता है।

हमारे देश का तिरंगा ही तो हमारे देश के जवानों में जोश व जज्‍बा भरता है, इसी प्रकार हर देशवासियों को उनके देश का झंडा देशभक्‍ति के लिए प्रेरित करता है।

हर देशवासी भारत के तिरंगे के बारे में तो जानता ही होगा लेकिन आज हम आपको उन देशों के झंडों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका नैशनल फ्लैग हमारे तिरंगे से मेल खाता हैं।

1 – बोलिविया

बोलिविया का भी नैशनल फ्लैग भारत के तिरंगे की ही तरह है।बोलिविया के झंडे में भी तीन रंग हैं, झंडे का पहला लाल रंग है जो वहां के सैनिकों की बहादुरी को दर्शाता हैऔर पीला रंग जो बीच की पट्टी का है जो देश की सम्पत्ति और आखिरी पट्टी मेंहरा रंग वहां की प्राकृतिक और समाज की एकता को जोड़ता है।

2 – नाइज़र

नाइज़र और भारत के तिरंगें में कई समानता है। जैसे कि हमारे देश की ही तरह नाइज़र के झंडे में भी तीन रंग हैं। यहां तक कि वहां के झंडे में पहला रंग ऑरेंज है, दूसरा रंग सफेद और तीसरा रंग हरा है।

नाइज़र के तिरंगे की पहली पट्टी का रंग ऑरेंज सूर्य की तरह त्‍याग करने का प्रतीक है। दूसरी पट्टी में सफेद रंग है जो जनता में पवित्रता और मानवता का संदेश देती है। तीसरी पट्टी में हरा रंग है जो देशवासियों को उम्‍मीद रखने का संदेश देता है।

3 – घाना

लाल, पीला और हरे कलर की तीन पट्टियों में घाना का राष्ट्रीय ध्वज भी है।इसके साथ ही तिरंगे की दूसरी पट्टी पर पांच प्वॉइंट के साथ एक स्टार बना हुआ है। बता दें कि भारत की ही तरह घाना के तिरंगे में भी समय-समय पर बदलाव हुआ है। घाना के झंडे में तीन रंगों के बीच वहां का राष्‍ट्रीय ध्वज भी है और यहां तक कि झंडे के बीच वाली पट्टी पर पांच प्वॉइंट के साथ-साथ स्टार तक बना हुआ है. भारत की तरह ही घाना के तिरंगे में भी इतिहास में समय-समय पर बदलाव हुआ है।

इन देशों के तिरंगे काफी हद तक भारत के नैशनल फ्लैग से मिलते हैं लेकिन भारत जैसी एकता और अखंडता कहीं देखने को नहीं मिलती है।

Article Categories:
विशेष

Don't Miss! random posts ..