ENG | HINDI

शादीशुदा लोगों नहीं बल्कि केवल सिंगल ही उठा पाते हैं ये 5 फायदे

सिंगल होने के फायदे

सिंगल होने के फायदे – सोनम कपूर और आनंद आहूजा की शादी हो चुकी है।

रिसेप्शन की भी पार्टी खत्म हो चुकी है और सब लोग अपने-अपने घर चले गए हैँ। लेकिन घर जाने के बाद हर जगह यही चर्चा हो रही है कि अनुष्का, सोनम के बाद क्या दीपिका पादुकोण की भी शादी होने वाली है?

अगर हां तो हर कोई एक्साइटेड होने वाला है। लेकिन दीपिका नहीं। क्योंकि दीपिका को मालूम है कि सिंगल होने के जो फायदे हैं वह शादीशुदा होने के नहीं। और इन फायदों के बारे में रनबीर सिंह को भी मालूम है। इसलिए दोनों पूरी दुनिया के सामने तो अपने प्यार कबूल करते हैं लेकिन शादी की बात हमेशा टाल जाते हैं।

वैसे भी शादी तो करनी है। इसलिए पहले सिंगल होने के फायदे क्यों ना उठा लिए जाए !!

तो अगर आपको नहीं मालूम है कि सिंगल होने के फायदे क्या होते हैं तो आज जान लें। क्योंकि सिंगल रहने में आपको ऐसे 5 फायदें मिलते हैं जिनका महत्व आप शादी के बाद ही समझ पाते हैं, तो चलिए आपको बताते हैं उन 5 फायदों के बारे में जो आप एक रिलेशनशिप में आने के बाद बहुत ज्यादा मिस करेंगे।

फ्रेंड्स के लिए टाइम

सिंगल होने के फायदे

जो लोग सिंगल होते हैं उनके पास हमेशा अपने फ्रेंड्स के लिए टाइम होता है। वहीं रिलेशनशिप में रहने वाले लोग लड़ाई-झगड़े में उलझ जाते हैं। हर वक्त एक-दूसरे को साथ लेकर चलना पड़ता हैं। वहीं जो लोग सिंगल रहते हैं उन्हें किसी से अनुमति लेने की जरूरत नहीं पड़ती है। कई प्रेमी अपनी प्रेमिकाओं को दूसरे लड़कों से बात करने की इजाजत नहीं देते। अगर आप सिंगल हैं तो आपको अपने पुरुष मित्रों से मिलने और उनके साथ मौज मस्ती करने से कोई नहीं रोक सकता।

रहता है एक्सरसाइज के लिए समय

सिंगल होने के फायदे

सिंगल लोगों के पास अपने लिए हमेशा समय रहता है और वे खुद को फिट रखने के लिए हमेशा एक्सरसाइज करते रहते हैं। लेकिन शादी हो जाने के बाद सारी फिटनेस का जुनून गायब हो जाता है। क्योंकि फिर वे सोचते हैं, “अब तो शादी हो गई है, देखने वाला कौन है।”
इसलिए तो शादी हो जाने के एक साल बाद ही लोग अदरक की तरह फैले हुए नजर आने लगते हैं।

स्ट्रेस नहीं रहता

शादी हो जाने के बाद दो फैमिली का ख्याल रखना पड़ता है। जबकि सिंगल रहने के दौरान अपनी फैमिली की भी उतनी चिंता नहीं होती। मां-बाप के लिए हम केवल उनके बच्चे होते हैं जिन्हें वे खेलते रहते देखना पंसद करते हैं। जबकि शादी हो जाने के बाद वे ससुराल वालों को खुश रखने की सलाह देते रहते हैं औऱ ससुराल वाले होते हैं कि वे कभी खुश ही नहीं होते। इसलिए तो कहा जाता है कि सिंगल रहने वाले लोग दिमागी तौर पर तनाव मुक्त रहते हैं।

आजादी रहती है

सिंगल रहने के दौरान हर चीज की आजादी रहती है। सिंगल मतलब ही होता है कि आप एक आजाद पंछी की तरह हैं। आपको किसी के ऊपर निर्भर रहने की या फिर किसी से आज्ञा लेने की जरूरत नहीं है। ना तो आपको किसी को रिपोर्ट करने की और ना ही अपने बॉयफ्रेंड को दिनभर का हाल बताने की जरूरत है।

करियर पर फोकस

सिंगल होने के फायदे

सिंग्ल होने पर आप अपने काम पर पूरी तरह से ध्यान दे सकते हैं। वहीं शादीशुदा लोगों को अपना आधे से ज्यादा समय अपने घर-परिवार को ही देना पड़ता हैं जिससे वो अपना काम ठीक तरह से नहीं कर पाते हैं। सिंगल रहने वाले लोग अपने काम को एन्जॉय करते हैं। अगर आप सिंगल वुमेन हैं तो इससे अच्छा मौका नहीं मिलेगा अपने करियर पर ध्यान देने के लिए। आप पर कोई बंधन नहीं होगा और आप आराम से अपने करियर पर ध्यान दे सकेंगे।

ये है सिंगल होने के फायदे – तो शादी करने की सोच रहे हैं तो पहले इन फायदों के बारे में फिर से एक बार सोच लें। क्योंकि शादी कर के सिंगल होने का मौका नहीं मिलेगा।

Don't Miss! random posts ..