ENG | HINDI

8 मैंच में सिर्फ 11 रन बनाने वाले इस खिलाडी को क्‍यों मिली एशिया कप में जगह

एशिया कप के खिलाडी

एशिया कप के खिलाडी – क्रिकेट एक अद्भुत व अविश्वसनीय खेल है, जिसमे कभी भी कही भी कुछ भी हो सकता है.

लेकिन ऐसा भी क्या कारण होना की एशियाई कप में एक ऐसी खिलाडी को टीम में जगह मिल गई जिसने 8 मैचो में मात्र 11 रन ही बनाए हैं. दोस्तो 15 सितंबर से दुबई में एशिया कप 2018 शुरू हो चुका है. सभी टीमो ने एशिया कप जीतनी की अपनी तैयारीया पूरी भी कर ली हैं वही दूसरी ओर भारत की तरफ से 16 क्रिकेट खिलाडीयो को चुना गया है.

इस टीम का चयन बीसीसीआई द्वारा किया गया है जिसमे टीम की कमान रोहित शर्मा के हाथ में सौंपी गई है. शिखर धवन को उपकप्तानी करने का मौका मिला है तो वही कप्तान विराट कोहली को फिलहाल एशिया कप में आराम दिया गया है. इसके साथ ही सुरेश रैना, श्रेयस अय्यर और उमेश यादव को टीम से बहार ही रखा गया है.

एशिया कप के खिलाडी

एशिया कप के खिलाडी – एशिया कप के लिए चुने गए 16 भारतीय खिलाडी

रोहित शर्मा, शिखर धवन, के एल राहुल, मनीष पांडे, अंबाती रायडू, केदार जाधव, महेंद्र सिन्ह धोनी, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पांड्या, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, शार्दुल ठाकुर, औरयुजवेंद्र चहल.

रैना और उमेश यादव जैसे खिलाडियो को बहार कर बीसीसीआई ने इस बार कुछ ऐसी खिलाडियो को मौका दिया है जिनका पिछले कुछ समय से वनडे मैचो में बेहद खराब प्रदर्शन रहा है. बता दे की इस साल ऑलराउंडर अक्षर पटेल को भी 16 सदस्यों की भारतीय टीम में शामिल किया गया है, जबकि चयनकर्ताओ को इस बात का अच्छे से पता है की अक्षर का प्रदर्शन 2017 के अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में बेहद खराब रहा था. साल 2017 के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 8 मैचे खेले थे जिनमे वह केवल 11 रन ही बना पाए थे. इसके साथ उनका गेंदबाजी में भी काफी बेकार प्रदर्शन देखने को मिला, 8 मैच में वह मुश्किल से केवल 10 विकेट ही ले पाए थे. 

एशिया कप के खिलाडी

बीसीसीआई के चयनकर्ताओ ने ना जाने को अक्षर को एशिया कप के लिए टीम इंडिया की तरफ से खेलने को भेज दिया है. जबकि अक्षर का पिछले वर्ष रहा प्रदर्शन से साफ जाहिर करता है की एक ऑलराउंडर की हैसियत से वह कितना निराशाजनक था. यहाँ तक की साल 2017 के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कप में भारतीय टीम के गेंदबाजो तक ने अक्षर से अधिक रन बनाए थे. अब देखना ये दिलचस्प होगा की क्या खुद को मिले दूसरे सुनहरे इस अफसर को अक्षर बखूबी निभा पाते हैं या फिर पिछली बार की ही तरह इस बार भी नाक कटवा आते हैं.

एशिया कप के खिलाडी

ये है एशिया कप के खिलाडी – दोस्तो आपको क्या लगता है भारतीय टीम के चयनकर्ताओ ने अक्षर को दूसरा मौका देकर सही किया या गलत? इस बात का फैसला तो शायद खुद अक्षर अपना प्रदर्शन दिखा कर ही कर सकेंगे. यदि इस बार भी वह अपने बल्ले या गेंद का कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए तो शायद ही उन्हे फिर कभी टीम इंडिया से एशियाई कप या अंतरराष्ट्रीय कप में खेलने का मौका मिलेगा. हमारी तो अक्षर के लिए यही दुआ होगी की वह इस साल सबसे कमाल का प्रदर्शन कर के दिखाए और भारत के लिए एशिया कप भी जीते.

Don't Miss! random posts ..