ENG | HINDI

वरदान नहीं जहर का भी काम करता है ऐलोवेरा, नहीं करें ऐसे इस्तेमाल

एलोवेरा का पीला लिक्विड

एलोवेरा का पीला लिक्विड – एलोवेरा एक ऐसी चीज है जो किसी के भी बगीचे में लग जाता है अगर किसी के पड़ोस में इसका पौधा लगा होता है। यह एक ऐसी चीज है जिसका इस्तेमाल खाने से लकेर लगाने तक में यूज़ किया जाता है।

किसी की स्किन खराब हो गई है तो डॉक्टर सबसे पहले एलोवेरा लगाने की सलाह देते हैं। इसी तरह से अगर किसी का पेट खराब चल रहा है तो उसे एलोवेरा का जूस पीने को कहा जाता है। एलोवेरा एक फायदेमंद चीज है।

इन अलग-अलग तरीकों से एलोवेरा को यूज़ करने के कारण ही इसका उल्लेख आयुर्वेद में औषधि की तरह किया गया है।

फायदेमंद है एलोवेरा

एलोवेरा में एंटी बैक्टीरियल गुण होता है जिसके कारण इसका हर तरह से यूज़ किया जाता है और यह फायदेमंद होता है। यही वजह है कि एलोवेरा का इस्तेमाल दवा, कॉस्मेटिक, हेल्थ और फूड इंडस्ट्री में बड़े पैमाने पर किया जाता है। इस के की सारे फायदे हैं।

एलोवेरा का पीला लिक्विड

स्किन के लिए फायदेमंद

यह स्किन के लिए काफी फायदेमंद होता है। चाहे उम्रदराज दिखना हो या फिर कील-मुंहासों को रोकना हो, हर स्किन स्पेशलिस्ट सबसे पहले एलोवेरा यूज़ करने की सलाह देते हैं। इसमें काफी मात्रा में पानी होता है और यह हर तरह की स्किन को सूट कर जाता है। यह स्किन को अंदर से हाइड्रेट कर देता है। इसलिए अगर आपको किसी भी तरह के मार्केट प्रोडक्ट पर भरोसा नहीं है तो पिंपल्स व कील-मुंहासों को दूर करने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल करेँ।

झुर्रियां नहीं आने देता

यह झुर्रियां आने से भी रोकता है। इसमें काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स होता है जो चेहेर की स्किन को अतिरिक्त मात्रा में ऑक्सीजन देकर उम्र से पहले बूढ़ा होने से रोकता है। जिसके कारण इसके नियमित इस्तेमाल से चेहरे पर जल्दी झुर्रियां और महीन रेखाएं नहीं पड़ती हैं। कई स्टडीज़ में भी इस बात की पुष्टि हुई है कि एलोवेरा चेहरे की झुर्रियों और महीन रेखाओं को रोकने में कारगर है।

पेट सही रखें

अगर किसी तरह की पेट से जुड़ी समस्याएं हैं तो वह भी एलोवेरा ठीक करता है। पेट से जुड़ी समस्याओं को ठीक करने के लिए रोज सुबह एलोवेरा का जूस बनाकर पिएं।

एलोवेरा का पीला लिक्विड

जहर का भी करता हैं काम

लेकिन जिस तरह से हर चीज के नुकसान और फायदे होते हैं उसी तरह यह एलोवेरा के साथ भी है। इतने सारे फायदों के होते हुए भी एलोवेरा के कुछ नुकसान भी हैं। दरअसल एलोवेरा के तुरंत काटने के बाद एलोवेरा का पीला लिक्विड निकलता है। एलोवेरा का पीला लिक्विड जहर का काम करता है। एलोवेरा का पीला लिक्विड जिसे लेटेक्स कहते हैं। इसमें काफी मात्रा में टॉक्सिक होते हैं जो हमें नुकसान पहुंचा सकते हैं।

एलोवेरा का पीला लिक्विड

एलोवेरा का पीला लिक्विड बनता हैं कैंसर का कारण

एलोवेरा का पीला लिक्विड कैंसर का कारण भी बनता है। 2011 में अमेरिका एनटीपी में हुई एक स्टडी में अमेरिकी सरकार ने लैब में एलोवेरा का टेस्‍ट किया। इस टेस्‍ट के परिणाम के अनुसार इस पीले लिक्विड को खाने में इस्तेमाल करने से शरीर में कैंसर के कारक पैदा होने लगते हैं। वहीं अगर इसे आप स्किन पर लगाती हैं तो इससे स्किन कैंसर हो सकता है।

एलोवेरा का पीला लिक्विड – इन सारे नुकसानों को देखते हुए एलोवेरा इस्तेमाल करने समय यह पीला लिक्विड जरूर निकाल कर फेंक दें। यह पीला लिक्विड एलोवेरा को उसके पौधे से काटने के बाद निकलता है। इसलिए एलोवेरा को तुरंत काटने के बाद कभी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। तो आप भी इस चीज का ख्याल रखें और हेल्दी रहें।

Don't Miss! random posts ..