ENG | HINDI

हर गली-मोहल्ले में मिल जाएंगें ये 5 तरह के आशिक

आशिक

आशिक – टीनएज की उम्र में गली-मोहल्‍ले में प्‍यार के मामले ज्‍यादा परवान चढ़ते हैं और सभी के प्‍यार करने का तरीका कुछ अलग होता है।

आज हम आपको गली-मोहल्‍ले में मिलने वाले आशिकों के प्‍यार करने के तरीके के बारे में बताएंगें।

आपको भी ये बात पता ही होगी कि हर गली और मोहल्‍ले में किसी ना किसी लड़की का कोई ना कोई आशिक जरूर घूमता है। तो चलिए जानते हैं कि इन आशिकों के प्‍यार करने के तरीके।

समर्पित आशिक

आमतौर पर गली-मोहल्‍ले में जो प्‍यार होता है वो कम उम्र में ही होता है और इस समय जो भी प्‍यार करता है वो पूरे समर्पण के साथ करता है। ऐसे आशिक अपने प्‍यार को पाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं और कुछ भी कर सकते हैं। ये अपने प्‍यार को किसी भी तरह कम नहीं आंकना नहीं चाहते हैं और इसके लिए कुछ भी कर गुज़रने का जज्‍बा रखते हैं।

पीछा करने वाले

ये बहुत आम बात है कि लड़कियों का पीछा उनके दीवाने करते हैं। हर लड़की के पीछे उसकी गली या मोहल्‍ले के 2-3 लड़के तो पड़े ही होते हैं। ऐसे में कुछ आशिक इतने दीवाने होते हैं कि हर वक्‍त लड़की का पीछा करते हैं। स्‍कूल, कॉलेज, ट्यूशन या बाज़ार ये लोग हर जगह उनका पीछा करते हुए दिख जाते हैं।

सपनों में खोए रहने वाले

गली-मोहल्‍ले का प्‍यार कुछ यूं होता है कि लड़के अपनी दीवानगी को संभाल नहीं पाते हैं। घंटों-घंटों भर वो जिससे प्‍यार करते हैं उसके ख्‍यालों में खोए रहते हैं। आपको भी अपने मोहल्‍ले में कोई ना कोई ऐसा आशिक तो जरूर मिल जाएगा जो अपनी ही दुनिया में रहता हो और आप चाहे इनसे कितना ही कुछ क्‍यों ना कह लें, इन्‍हें कुछ सुनाई ही नहीं देता।

सिरफिरे आशिक

जब प्‍यार हद से गुज़र जाए तो सिरफिरा हो जाता है। ये आशिकी ना सिर्फ लड़कियों बल्कि लड़कों के लिए भी खतरनाक होती है। इसमें लड़के अपने प्‍यार को पाने के लिए गलत रास्‍ते तक पर जा सकते हैं जोकि किसी के लिए भी सही नहीं होता है। बेहतर होगा कि प्‍यार को इस हद तक पहुंचने से पहले ही अपने दिल को संभाल लिया जाए वरना भला किसी का भी नहीं होगा।

शर्म रखने वाले

अब गली-मोहल्‍ले की बात आई है तो जाहिर सी बात है कि अगर आप अपनी ही गली में किसी से प्‍यार करते हैं तो वहां उनका और आपका परिवार भी मौजूद होगा। अपने परिवार और लड़की के परिवार की इज्‍जत की फिक्र करके ही कई लड़के तो अपने दिल की बात अपने होंठों तक ही नहीं लाते हैं। वहीं कुछ लड़के शर्मीले होते हैं और इस वजह से भी अपने दिल की बात नहीं कह पाते हैं।

आपने भी अपने गली-मोहल्‍ले में इस तरह के आशिक देखे ही होंगें और हो सकता है कि आपको भी कोई इसी तरह प्‍यार करने वाला हो जिसे शायद आप पहचान ही ना पाईं हों। वैसे आपको बता दूं कि ये गली-मोहल्‍ले का प्‍यार बस टीनएज में ही परवान चढ़ता है, मैच्‍योर होने के साथ ही इसकी हवा भी ठंडी पड़ने लगती है।

Article Categories:
मज़ेदार

Don't Miss! random posts ..