ENG | HINDI

याकूब मेमन हो या गुजरात के अपराधी सब है सजा के अधिकारी, उनको बचाना अपने आप में है अपराध

yakub-memon

आइये करते है आपका स्वागत हिंदुस्तान में,

एक ऐसा देश जिसे बाहरी दुश्मनों की कोई ज़रूरत नहीं, एक ऐसा देश जिसमे संकट की घडी में राजनेता और बुद्धिजीवी साथ खड़े नज़र नहीं आते, एक ऐसा देश जहाँ व्यक्तिगत स्वार्थ सर्वोपरि है.

एक ऐसा देश जो अगर किसी अपराधी को पकड़ भी ले तो उसके साथ देने वाले हजारों खड़े हो जाते है, पर उस अपराधी के कारण खोयी जिंदगी और उजड़े परिवारों की सुध लेने को खड़े होने वाला कोई नहीं.

84 के दंगों के अभियुक्त

2002 गुजरात में खुलेआम कत्ले आम करने वाले

93 में दंगे करवाने वाले

मुंबई में धमाके कराने वाले

संसद में घुस जाने वाले

या फिर ट्रेन धमाके करने वाले

या मुंबई में 26 नवम्बर को हमला करने वाले

mumbaiblast

1 2 3 4 5

Don't Miss! random posts ..