ENG | HINDI

क्यों आजकल महिलाएं बिना ब्लाउज के फोटो खिंचाकर कर रही हैं अपलोड

बिना ब्लाउज

बिना ब्लाउज के फोटो – आज खबर पड़ी कि हिसार में एक पांच साल की बच्ची के साथ रेप कर के फिर उसे अधमरा के फेंक कर दोषी फरार हो गया। ये लेख लिखे जाने तक आरोपी का कोई पता नहीं चला था। गांव वाले गुस्से में थे। बच्ची को तब तब उठाया गया जब वो राक अपने मां के पास बगल में सो रही थी।

गांव वाले गुस्से में है और हम खबर लिखने वाले हैरानी में…

लेकिन उन लोगों के ऊपर थोड़ी सी भी जूं रेंगेगी जो रेप या छेड़खानी की कोई भी घटना होने पर तुरंत लड़कियों के चरित्र और कपड़े पर सवाल उठाने लगते थे?

शायद नहीं भी और हां भी … कुछ कह नहीं सकते।

और कुछ महिलाओं को इन सवालों के जवाब तलाशने के जरूरत भी नहीं है। तभी तो वे इन आलोचनाओं और कपड़ों की बिना परवाह किए आजकल सोशल मीडिया पर बिना ब्लाउज के साड़ी पहने हुए फोटो शेयर कर रही हैं। दरअसल ये एक नया ट्रेंड ह जो आजकल साड़ी पहनने का नया ट्रेंड बना हुआ है। इस पर बात करने के लिए यूपी के इस घटना को नई भी लिखती तो चल जाता। लेकिन बिना लिखे इस लेख को शुरू करना थोड़ा नागवार सा गुजरा। क्योंकि बिना ब्लाउज के साड़ी पहनकर फोटो शेयर करने का ये तरीका शायद किसी ने इसलिए भी शुरू किया हो कि उसे परवाह नहीं कि समाज क्या सोचता है। उसे परवाह नहीं कि आप कपड़ों से उसे जज करते हैं। वो अपनी आजादी को जीना चाहती थी तो उसने ऐसे फोटो शेयर कर दिया। जो शायद दूसरे लोगों को खूब पसंद आया और उसके बाद अब महिलायें ऐसे ही फोटो खिंचाकर खूब शेयर कर रही हैं।

दिवाली से शुरू हुआ था ट्रेंड

बिना ब्लाउज

ये ट्रेंड दिवाली से शुरू हुआ था। जहां एक तरफ महिलायें उस समय मी टू पर अपने जिंदगी के यौन शोषण के कड़वे अुभव शेयर कर रही थीं वहीं दूसरी तरफ इंडिया में एक और ट्रेंड चल रहा था जिसमें महिलायें बिना ब्लाउज के साड़ी पहनकर फोटो शेयर कर रही थीं। दिवाली के मौके पर जहां महिलायें अपने घर को सजाने में व्यस्त रहती हैं, नए-नए उपहारों और कपड़ों की खरीदारी करती हैं वहीं कुछ महिलायें उन दिनों सोशल साइट इंस्टाग्राम पर बिना ब्लाउज के साड़ी में फोटो शेयर कर रही थीं।

इनमें से कुछ महिलायें साड़ी प्रेमी थीं जो ब्लाउज पहनने के झंझट के कारण साड़ी नहीं पहन पाती थीं तो कोई ये बताना चाहती थीं कि कपड़ों से उन्हें जज ना किया जाए। इस अभियान में अब तक ढेरों महिलाएं भाग ले चुकी हैं। देखते ही देखते यह अभियान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

नए तरीके से साड़ी पहनने का चलन

बिना ब्लाउज

इस ट्रेंड के कारण एक नई तरह की साड़ी पहनने का ट्रेंड शुरू हो चुका है। ये नया ट्रेंड साड़ी प्रेमियों के लिए साड़ी पहनने का नया तरीका लेकर आया है और ये जल्ह ही फैशन की दुनिया में भी तहलका मचा सकता है। तो अगर आप भी साड़ी प्रेमी हैं तो इस अभियान से जुड़कर नए-नए तरीकों से बिना ब्लाउज और पेटीकोट्स की साड़ी पहनना सीख सकती हैं। कई महिलाओं और लड़कियों ने नए-नए डिजाइन में बिना ब्लाउज की साड़ी पहनकर इंस्टाग्राम पर अपनी तस्वीर शेयर की हैं। इसमें महिलाएं साड़ी पहनने की सरल तरीकों को बता रही हैं।

महिलाएं खूब पसंद कर रही हैं ये ट्रेंड

बिना ब्लाउज

इस ट्रेंड को महिलायें खूब पसंद कर रही हैं और इंस्टाग्राम के नो ब्लाउज अकाउंट पर खूब फोटो शेयर किए जा रहे हैं। ‘नो ब्लाउज’ अभियान की शुरूआत करने वाले यूजर्स इस अकाउंट पर लिखते हैं कि जिसको नए तरीके से साड़ी पहनना है उसका स्वागत है।

आप में से कोई है जो ब्लाउज को चुनौती दे। यूजर्स ने लिखा है कि आप अपने पसंदीदा स्टाइल में बिना ब्लाउज के साड़ी पहनकर फोटो तस्वीर पोस्ट करें और हमें एक नए तरीके से साड़ी पहनकर दिखाएं।

Don't Miss! random posts ..