ENG | HINDI

5 ऐसे कारण जो बताएंगे कि आखिर क्यों बेटी अपने पिता से सबसे ज़्यादा प्यार करती है

बेटी जो पापा को सबसे ज्यादा चाहती है

बेटी जो पापा को सबसे ज्यादा चाहती है – ये अक्सर कहा जाता है कि बेटियां अपने पापा की दुलारी होती हैं. जो काम लड़के अपने पिता से नहीं करवा पाते वो बहन का सहारा लेकर करते हैं.

आखिर बेटियां अपने पापा के इतने नज़दीक क्यों होती हैं. क्यों बेटों से ज्यादा पापा अपनी दुलारी को प्यार करते हैं. क्यों बेटी अपना सबकुछ अपने पापा को समझती है.

जब बेटियों की शादी होती है तब भी उन्हें अपने दुल्हे में कहीं न कहीं पापा वाली छवि चाहिए होती है. वो उस लड़के में अपने पिता की छवि को खोजती हैं. ऐसा क्यों होता है. आखिर ये बेटियां अपने पापा को इतना प्यार क्यों करती हैं.

बेटी जो पापा को सबसे ज्यादा चाहती है –

आज हम आपको बाप बेटी के उस रिश्ते के बारे में बताएंगे. सबसे पहला कारन जो है बेटियों का अपने बाप को प्यार करने का वो है वो जब पहली बार बेटियां पैदा होती हैं तो बाप उन्हें अपनी गोद में लेता है.

बाप के लिए वही सारी दुनिया हो जाती है. बेटी के आते ही बाप बदल जाता है. ये बदलाव बेटी तक पहुंचते हैं. उसे एहसास होता है कि अब उसकी खुशियों के कारण ही पिता जी रहा है.

कोई चाह नहीं. बेटी को इस दुनिया में जो भी मिलता है वो उससे कुछ न कुछ चाहता ही है.

जो उसे प्यार करता है उससे प्यार के बदले प्यार मांगता है, लेकिन बाप कभी ऐसा नहीं करता. उसकी तो दुनिया ही है उसकी गुड़िया. उसे पाकर ही वो इतना खुश हो जाता है कि फिर कुछ चाहने की ख्वाहिश नहीं रखता.

एक लड़की को अपने पिता से जो प्रोटेक्शन मिलता है वो किसी से नहीं मिलता.

पिता ही है जो उसके हर काम में उसे सलाह देता है. उसके साथ रहता है. एक बाप हमेशा अपनी बेटी की हिफाज़त को ही अपना धर्म मानता है, घर के अंदर और घर के बाहर भी वह अपनी बेटी की मदद के लिए हमेशा मौजूद रहता है और इसलिए बाप-बेटी का रिश्ता इतना मज़बूत होता है. बस इसीलिए बाप को बेटी अपनी जान से भी ज्यादा समझती है.

घर में सभी बेटी को एक समय के बाद बाँधने की कोशिश करते हैं. यहाँ तक कि उसे जन्म देने वाली माँ भी उसे ज्यादा आज़ादी देने के बारे में नहीं सोचती, लेकिन एक बाप ही है जो उसे खुले आसमान में उड़ने के सपने दिखाता है. इस बाप को भला बेटी कैसे न प्यार करे.

जिस तरह से लड़कों का सपना होता है उसी तरह से लड़कियां भी सपना देखती हैं, लेकिन हमारे समाज में लड़कियों का सपना देखना भी बुरा माना जाता है. ऐसे में जो व्यक्ति लड़कियों को सपना देखना सिखाता है वो  कोई और नहीं बल्कि उसका पिता होता है. एक बाप अपनी बेटी को अच्छी तरह से जनता है और वो चाहता है कि उसके सारे सपने पूरे हों. ये बात बेटी को पता होती है. हर मुसीबत में साथ देने के साथ ही पिता बेटी के साथ हर कदम से कदम मिलाकर चलता है.

ये है वजहें बेटी जो पापा को सबसे ज्यादा चाहती है – अपने पापा की कुर्बानियों को एक बेटा भूल सकता है लेकिन एक बेटी कभी नहीं. यही कारण है कि वो अपने पिता को दुनिया की सारी ख़ुशी दे देना चाहती है. वो उनसे बहुत प्यार करना चाहती है.

Don't Miss! random posts ..