ENG | HINDI

पैसा कमाने के लिए शहरों में आई लड़कियों के साथ होता है कुछ ऐसा

शहरों में आई लड़कियां

शहरों में आई लड़कियां – भारत के गांवों में आज भी वो सुविधाएं उपलब्‍ध नहीं हैं जो लोगों को शहरों में नसीब होती हैं।

इन्‍हीं सुख-सुविधाओं के चक्‍कर में लोग शहर आकर बस जाते हैं लेकिन यहां पर सर्वाइव करने के लिए उन्‍हें बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है।

कोई पढ़ाई के लिए तो कोई पैसा कमाने के लिए गांव से शहर या अपने शहर से मेगासिटी आता है और यहीं से उनकी जिंदगी का असली सफर शुरु हो जाता है। हर मामले में लड़कियों का सफर थोड़ा ज्‍यादा मुश्किल होता है।

जब कोई लड़की अपना घर, अपना गांव या शहर छोड़कर किसी नई जगह पर आती है तो वहां अनजाने लोगों के बीच एडजस्‍ट होने में उन्‍हें बहुत दिक्‍कत आती है। कुछ खुशनसीब लड़कियां होती हैं जो अच्‍छे लोगों के संपर्क में आ जाती हैं और उनकी जिंदगी अच्‍छे से कट जाती है लेकिन कुछ लड़कियों की मुश्किलें दूसरे शहर में आकर और बढ़ जाती हैं।

आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि पैसा कमाने के लिए शहरों में आई लड़कियां क्या करती है ।

शहरों में आई लड़कियां –

१ – देह व्‍यापार

ये बिजनेस लड़कियों के लिए बहुत भयानक होता है। इस धंधे में पड़ी लड़कियों को हर दिन नर्क जैसी यातनाओं से गुज़रना पड़ता है। अगर कोई लड़की किसी नए शहर में आई है और उसे ज्‍यादा कुछ नहीं पता है तो वो किसी शख्‍स के बहकावे में आसानी से आ सकती है। वहीं कुछ उनके जानकार ही उन्‍हें पैसों के लालच में इस दलदल में धकेल देते हैं। कुछ लड़कियां अपनी मर्जी से भी पैसा कमाने के लिए ये सब करती हैं।

२ – कॉलेज गर्ल्‍स का काम

कुछ समय पहले एक खबर आई थी कि छोटे शहरों से पढ़ने आई लड़कियां अपना खर्चा चलाने के लिए वन नाइट स्‍टैंड में दिलचस्‍पी रखने लगी हैं। अपना खर्चा चलाने और फीस भरने के लिए लड़कियां किसी भी अनजान शख्‍स के साथ सोने तक को तैयार हो जाती हैं।

३ – बहुत कम लड़कियां करती हैं जॉब

आपने दामिनी रेप केस के बारे में तो सुना ही होगा। दामिनी भी मिडल क्‍लास फैमिली से थी और वो अपना खर्चा चलाने और पढ़ाई की फीस भरने के लिए नाइट शिफ्ट में जॉब किया करती थी। अगर आप मेहनती और आत्‍मनिर्भर हैं तो आप गलत कामों की जगह मेहनत करके कम पैसों में भी अपना गुज़ारा कर लेंगीं।

दोस्‍तों, किसी नए शहर में आकर अनजाने लोगों के बीच रहना कोई आसान बात नहीं है और लड़कियों के लिए तो ये और भी ज्‍यादा मुश्किल है। लड़कियों को हर जगह गंदी नज़रों का सामना करना पड़ता है। कभी मकान मालिक गंदी नज़र रखता है तो कभी साथ काम करने वाला कलीग। उन्‍हें लगता है कि लड़की शहर में अकेली है और वो इसका फायदा आसानी से उठा सकते हैं। लोगों की ऐसी सोच की वजह से ही आज लड़कियों को आगे बढ़ पाने के लिए मेहनत करनी पड़ रही है। अगर आप अपनी सोच को साफ करके चलेंगें तो समाज में महिलाएं भी निडर होकर रह पाएंगीं।

ऐसा ही कुछ करती है शहरों में आई लड़कियां – देश के विकास के लिए महिलाओं का विकास होना भी तो जरूरी है। अगर आप इस बात से सहमत हैं तो इसका समर्थन जरूर करें।

Don't Miss! random posts ..