ENG | HINDI

व्लादिमीर पुतिन ने किया कब कब भारत दौरा

व्लादिमीर पुतिन

व्लादिमीर पुतिन – भारत और रूस के बीच लगातार बढ़ते संबधों को लेकर दूसरे देशों में घामासान मचा हुआ है इस लिस्ट में सबसे ऊपर और अव्वल दर्जे पर अमेरिका का नाम है.

दोनों देशों के बीच गहराते संबधों और सुरक्षा नियमों को लेकर होते समझोतों से जहां एक ओर अमेरिका बौखलाया हुआ है, वहीं इस लिस्ट में दूसरा नाम पाकिस्तान का भी शुमार है।

व्लादीमीर पुतिन का दो दिवसीय भारत दौरा

व्लादिमीर पुतिन

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतीन गुरूवार को भारत के दो दिवसीय दौरे पर भारत आये। इस दौरान उन्होंने दोनों देशों की बीच एस-400 वायु प्रतिरक्षा प्रणाली सौदे पर समझौता हुआ। साथ ही इस दौरान रूस राष्ट्रपति पुतीन ने भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ भारत-रूस शिखर सम्मेलन में भी हिस्सा लिया। इस दोनों दिग्गजों के मिलने को लेकर यह भी कयास लगाये जा रहे थे कि दोनों नेता ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध के मद्देनजर कच्चे तेल की स्थिति समेत अन्य विभिन्न द्विपक्षीय रक्षा संबंधों की भी समीक्षा बैठक कर सकते है।

कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे रूस राष्ट्रपति पुतिन और प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यक्रम के दौरान भारत और रूसी छात्रों से मुलाकात और बातचीत की। इस दौरान कार्यक्रम में मौजूद एक छात्रा ने रूस राष्ट्रपति पुतिन से सवाल किया कि आपकों आज तक किस वैज्ञानिक ने सबसे अधिक प्रभावित किया है? छात्र के इस सवाल पर जवाब देते हुए रूस राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि इस सवाल का जवाब देना बेहद कठिन है, लेकिन हां यहां ये अहम है कि किस वैज्ञानिक ने मानवता के लिए काम किया  है। साथ ही कहा कि विज्ञान बेहद महत्वपूर्ण विषय है।

वहीं कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि रूस राष्ट्रपति पुतिन के नेतृत्व में भारत और रूस के संबध अब नई ऊंचाइयों पर पहुंच गए है। इतना ही नहीं अब तो हम दोनों खुद एक-दुसरे से मिलने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते। दोनों देशों के रसानिक संबधों को बीते वर्ष 70 साल पूरे हो गए है। और इन 70 सालों में दोनों देशों के बीच सदियों पुरानी यह मित्रता व आत्मीयता और अधिक मजबूत हो गई है।

व्लादिमीर पुतिन

व्लादिमीर पुतिन ने किया कब कब भारत दौरा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पदभार ग्रहण के बाद से अब तक कई देशों के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्रियों को भारत दौरे पर आ चुके है। जिनमें रूस राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का नाम भी शुमार है। बतां दे कि साल 2014 से अब तक राष्ट्रपति पुतिन 2 भारत भारत दौरे पर आ चुके है, जिसमें पहली बार वह 10 दिसंबर 2014 को भारत आये थे। उस दौरान उन्होंने इस बात पर गहन जोर दिया था, कि रूस भारत की सैन्य सामग्री एकत्रित करने में मदद करेगा और साथ ही साल 2017 तक भारत को प्राकृतिक गैस के निर्यात का भी आश्वासन दिया था। इंडो-रसिया के बीच लगातार बढ़ते संबंधों के चलते ही रूस राष्ट्रपति का यह भारत में दूसरा दौरा है।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के इस दौरे से जहां एक ओर भारत और रूस के संबंध और अधिक गहराये है, वहीं दूसरी ओर भारत की सैन्य शक्ति बल में भी एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम क्राफ्ट ने चार चांद लगा दिया था।

Don't Miss! random posts ..