ENG | HINDI

रावण के जन्म स्थान और ससुराल में आज भी रावण मंदिर में पूजा जाता है

ramayana

रावण … प्रकांड पंडित,विलिक्षण योद्धा,महाशक्तिशाली था. 

लेकिन एक भूल की वजह से इतिहास में खलनायक बन गया.

ज़रा सोचिये अगर रावण सीता हरण नहीं करता तो क्या होता? तब शायद इतिहास रावण को एक राक्षस के रूप में नहीं एक तेजस्वी राजा के रूप में जानता.

ravana

क्या रावण को सभी लोग बुरी नज़र से देखते है और उसे खलनायक मानते है?

माना देश के अधिकतर हिस्सों में रावण की छवि एक राक्षस की है जिसका संहार भगवान राम ने किया था. लेकिन फिर भी कुछ हिस्से ऐसे है जहाँ आज भी रावण को पूजा जाता है.

रावण का पूजन उसके गुणों की वजह से होता है. कहा जाता है कि अपने समय में रावण से बढ़कर पंडित और शास्त्रों का ज्ञाता  तीनों लोकों में नहीं था. शास्त्रों के साथ साथ रावण शस्त्रों के मामले में भी सर्वश्रेष्ठ था.

श्री लंका में कई स्थानों पर रावण मंदिर है जहाँ उसे देवता की तरह पूजा जाता है.

श्री लंका की तरह ही भारत के दक्षिणी हिस्से खासकर तमिलनाडु में भी रावण की पूजा की जाती है. यहाँ भी रावण के कई मंदिर है. दक्षिण भारत और श्री लंका में रावण की पूजा होने का कारण समझ आता है पर चौंकाने वाली बात ये है कि उत्तर भारत में भी कई रावण मंदिर है.

रावण के प्रमुख मंदिरों के बारे में आपको जानकारी देते है.

1 2 3 4 5 6

Don't Miss! random posts ..