ENG | HINDI

इन 5 खिलाडियों को कैप्टन बनाने पर डूब गई पूरी टीम !

कैप्टन

कैप्टन – आप भी इस बात से पूरी तरह से सहमत होंगें कि खेलों में दुनियाभर में सबसे ज्‍यादा क्रिकेट को पसंद किया जाता है। भारत में क्रिकेटर्स को भगवान तक का दर्जा दे दिया गया है।

किसी भी टीम में कैप्टन की भूमिका सबसे अहम होती है। अपनी टीम को जिताने के लिए वही फैसला लेता है और रणनीति तैयार करता है लेकिन अगर गलत कप्‍तान चुन लिया जाए तो पूरी टीम की ही किस्‍मत डूब जाती है। कई बार कुछ देशों के साथ ऐसा ही हुआ और इसमें भारत का नाम भी शामिल है।

आज हम आपको 5 ऐसे कप्‍तानों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्‍हें कैप्टन बनाना उनकी टीम और देश की सबसे बड़ी गलती साबित हुई। खास बात ये है कि इस लिस्‍ट में एक दिग्‍गज भारतीय खिलाड़ी का नाम भी शामिल है।

१ – सचिन तेंदुलकर

जी हां, इस लिस्‍ट में सबसे ऊपर क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिनतेंदुलकर का नाम आता है। सचिन ने टीम इंडिया के लिए वन डे मैच में कैप्टन थे लेकिन उनकी कैप्‍टेंसी में टीम महज़ 23 मैच में ही जीत हासिल कर पाई जबकि उसे 45 मैचों में हार का सामना करना पड़ा।

कैप्टन

२ – जेसन होल्‍डर

वेस्‍टइंडीज़ की टीम के पूर्व कैप्टन जेसन होल्‍डर को 59 मैचों में कप्‍तानी करने का मौका दिया गया जबकि वो सिर्फ 17 मैचों में ही टीम को जीत दिला पाए और 38 मैचों में हार गए।

कैप्टन

३ – एंडी फ्लावर

जिंबाब्‍वे के इस क्रिकेटर को भी फ्लॉप कैप्टन माना गया है। एंडी ने 1993 से 2000 तक लगातार अपनी टीम की कैप्‍टेंसी का काम संभाला और उनकी अगुवाई में टीम को सिर्फ 12 मैचों में जीत और 35 मैचों में हारना पड़ा।

कैप्टन

४ – क्रिस गेल

क्रिकेट की दुनिया में क्रिस बेल भी बहुत फेमस हैं और उन्‍हें उनकी बल्‍लेबाजी से ज्‍यादा डांस के लिए जाना जाता है। वेस्‍टइंडीज़ का ये खिलाड़ी भी ज्‍यादा अच्‍छा कैप्टन साबित नहीं हो पाया। 2007 से लेकर अगले तीन साल तक गेल ने कप्‍तानी की लेकिन उनकी कप्‍तानी में टीम ने बस 17 मैच ही जीते जबकि 30 मैच हार गई।

कैप्टन

५ – मुस्‍ताफिजुर रहीम

बांग्‍लादेश ने भी इस खिलाड़ी को टीम का कैप्टन बनाकर पूरी टीम की किस्‍मत को डुबो दिया। 2011 से 2014 में रहीम अपनी टीम के कैप्‍टन रहे थे लेकिन वो एक विफल कैप्‍टन साबित हुए।

कैप्टन

इस तरह इन पांच दिग्‍गज खिलाडियों ने अपनी टीम को कैप्‍टन बनकर शर्मिंदा किया। क्रिकेट प्रेमियों के लिए मैच में हार और जीत बहुत मायने रखती है इसलिए क्रिकेट एसोसिएशन को अपनी टीम का कैप्‍टन थोड़ा सोच समझकर बनाना चाहिए। इससे ना केवल टीम को हार का सामना करना पड़ता है बल्कि सभी को मोरल भी डाउन होता है।

कहीं ना कहीं आप भी इस बात से सहमत ही होंगें कि टीम में कैप्‍टन बढिया ना हो तो वो पूरी टीम को लेकर डूब सकता है। अब भारत हो ही ले लीजिए जब भारत को धोनी जैसा काबिल कैप्‍टन मिला तो वो वर्ल्‍ड कप जीतकर ले आया। टीम में कैप्‍टन बहुत अहम होता है।

इस बारे में आपकी क्‍या राय है, क्‍या आप भी कैप्‍टन की काबिलियत को जरूरी समझते हैं ?

 

Article Categories:
खेल

Don't Miss! random posts ..