ENG | HINDI

इस लड़की को सिर्फ बैठने के लिए हर महीने मिलती है 65 हज़ार की सैलरी !

बैठने की नौकरी

बैठने की नौकरी – आज के समय में अधिकांश नौकरीपेशा लोग अपने काम से परेशान नज़र आते हैं लेकिन वो करें भी तो क्या, क्योंकि पैसा कमाने के लिए नौकरी करना उनकी मजबूरी बन जाती है.

ऐसे में कई लोग ऐसी नौकरी पाने का सपना देखते हैं जिसमें उन्हें मेहनत न के बराबर करनी हो और उन्हें अच्छी खासी तनख्वाह भी मिल सके. अगर आप भी चाहते हैं कि आपको ऐसी नौकरी मिले जिसमें बिना मेहनत किए बैठे-बैठे मोटी तनख्वाह मिले तो फिर ये खबर आपके लिए बेहद काम की है.

जी हां, इस लेख में हम आपको एक ऐसी लड़की के बारे में बताने जा रहे हैं जो नौकरी तो करती है लेकिन काम कुछ नहीं करती और उसे दिनभर बैठने के लिए हर महीने 65 हजार रुपये वेतन भी मिलता है. वो बैठने की नौकरी करती है –

बैठने की नौकरी – सिर्फ बैठने के लिए मिलती है मोटी तनख्वाह

जो लोग किसी ऑफिस में नौकरी करते हैं उन्हें आए दिन बॉस की लेक्चर सुननी पड़ती है और काम का अधिक तनाव झेलना पड़ता है.लेकिन रूस में रहनेवाली एना चेर्डेंट्सेवा ऐसा काम करती हैं जिसमें उन्हें न तो कोई मेहनत करनी पड़ती है और न ही बॉस की लेक्चर सुननी पड़ती है बल्कि बैठे-बैठे उन्हें अच्छी खासी तनख्वाह भी मिलती है.

जी हां, 26 साल की एना को सिर्फ बैठने के पैसे दिए जाते हैं. वो बैठने की नौकरी करती है.  आपको बता दें कि एना एक फर्नीचर ग्रुप में बतौर सोफा टेस्टर की नौकरी करती हैं. इस जॉब के लिए उन्हें 65 हजार रुपये बतौर वेतन दिया जाता है.

10 घंटे तक अलग-अलग सोफे पर बैठती हैं एना

दरअसल एना जो नौकरी करती हैं उसके लिए उन्हें हर रोज करीब 10 घंटे तक अलग-अलग सोफे पर बैठना होता है और उनकी अच्छे से जांच-परख करनी होती है.

फर्नीचर कंपनी एमजेड़ 5 ग्रुप ने कुछ महीने पहले ही फुल टाइम सोफा टेस्टर के लिए वैकेंसी निकाली थी और एना इसी कंपनी के लिए सोफा टेस्टर का काम करती हैं.

हालांकि इस कंपनी में बनाए जानेवाले सोफा को अलग-अलग तरीके से टेस्ट किया जा सकता है लेकिन कंपनी का मानना है कि इसपर इंसान ही बैठकर देखे तो ज्यादा बेहतर होगा.

यही वजह है कि दिनभर में करीब 10 घंटे तक एना को अलग-अलग सोफे पर बैठकर उसे टेस्ट करना होता है वो सोफों पर बैठकर उनकी अच्छे से जांच-परख करती हैं तब उसकी बिक्री होती है. ऐसा करने से इस फर्नीचर कंपनी से सोफा खरीदनेवाले ग्राहकों को भी संतुष्टि मिलती है और कंपनी को अच्छा खासा मुनाफा भी होता है.

बैठने की नौकरी – वाकई में एना जो काम करती हैं वो काफी मजेदार है क्योंकि एना को न तो काम का ज्यादा तनाव झेलना पड़ता है और न ही बॉस की डांट सुननी पड़ती है. बस दिनभर अलग-अलग सोफे पर बैठकर हर महीने में मोटी तनख्वाह पाती हैं. अब आप ही बताइए क्या एना जैसी मजेदार नौकरी आप नहीं करना चाहेंगे.

Don't Miss! random posts ..