ENG | HINDI

पाकिस्तान में एक महिला को बुर्का पहनने पर कंपनी से निकाला

बुर्के का नुकशान

बुर्के का नुकशान – पाकिस्तान जैसे देश में जहां की आधी आबादी हमेशा हिजाब यानी परदे में रहती है, वहीं अगर किसी महिला को बुर्का पहने की वजह से नौकरी से निकाल दिया जाए तो वाकई ये बहुत अजीब है.

शायद उस कंपनी को अपने ही देश की संस्कृति और नियम कायदों की जानकारी नहीं है.

पाकिस्तान में सॉफ्टवेयर कंपनी में काम करने वाली एक महिला कर्मचारी से कहा गया कि या तो वह ऑफिस में बुर्का पहनकर नहीं आए या फिर इस्तीफा दे दे. ये था बुर्के का नुकशान. किसी भी मुस्लिम देश में ऐसा पहली बार हुआ है, क्योंकि मुस्लिमों के लिए तो हिजाब बहुत ज़रूरी है वो अपनी औरतों को हमेशा परदे में ही रखना चाहते हैं, लेकिन पाकिस्तान में हुई इस अजीब घटना के बाद से पाकिस्तान में सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई, जिसकी वजह से कंपनी के उस अधिकारी को रिज़ाइन करना पड़ा, जिसने बुर्का पहनने की वजह से महिला से इस्तीफा मांगा था.

बुर्के का नुकशान –

रिपोर्ट के मुताबिक, महिला को उसके लाइन मैनेजर ने बताया कि वह अपनी जॉब को तभी सेफ रख सकती हैं जब वह बुर्का पहनना छोड़ेंगी.

कंपनी के अधिकारी ने इस महिला से कहा कि हिजाब पहनने से कंपनी की इमेज खराब होगी. फिलहाल बवाल के बाद कंपनी ने इस मामले में एक माफीनामा भी जारी किया है.

साथ ही महिला से अपना इस्तीफा वापस लेने और नौकरी जारी रखने को कहा है. इस मामले के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद आरोपी कंपनी ने अपने अधिकारी कादिर से इस्तीफा ले लिया.

बुर्के का नुकशान

पाकिस्तान वाकई में बड़ा अजीब देश है, पहले तो वही अपने देश की महिलाओं पर हिजाब का पहरा लगता और फिर उसी देश की कोई कंपनी महिला को हिजाब पहनने की वजह से नौकरी से निकाल देती है. कभी बुर्के का फायदा होता है तो कभी बुर्के का नुकशान.

लगता है पूरा देश खुद कन्फ्यूज़ है कि उनके यहां कि संस्कृति और नियम कायदे क्या हैं.

जहां तक पहनावे का सवाल है तो देश कोई भी हो महिलाओं को अपनी पसंद के कपड़े पहनने की आज़ादी होनी चाहिए.

Don't Miss! random posts ..