ENG | HINDI

आपने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि इतनी छोटी सी चीज़ आपकी औकात दिखा देती है

जूते

अक्सर आप भी लोगों के जूते ज़रूर देखते होंगे. असल में जिस किसी का जूता दिखता है नज़रें अपने आप उसी ओर चली जाती हैं. कभी किसी का फटा जूता देखकर मुंह बन जाता है तो कभी किसी का जूता इतना खूबसूरत होता है कि हम तब तक उसे देखते रह जाते हैं जब तक वो आँखों से दूर नहीं होता.

जूते सिर्फ देखने में ही सुंदर नहीं होते, बल्कि इससे बहुत कुछ पता चलता है.

एक जूता आपकी पूरी हिस्ट्री बता सकता है. आप किस तरह के व्यक्तित्व वाले हैं ये आपको आपका जूता बता देता है.

इंसान कितनी भी कोशिश क्यों न कर ले लेकिन उसके पैर उसकी हकीकत बयां कर देते हैं. उसके पैर ये बता देते हैं कि वो किस किस्म का इंसान है. जूते आपकी पर्सनालिटी बताते हैं. आप कड़क मिजाज हैं, नरम दिल हैं या मजाकिया हैं, आपका स्वभाव जो भी हो, हर बात आपका जूता दूसरों को बताने से नहीं चूकता. तो अब से आप भी हो जाइए सचेत क्योंकि जूता बयां कर रहा है आपके सारे राज़.

लोग अपनी पसंद का जूता पहनते हैं. प्रोफेशन और अवसर के लिहाज से लोग वैरायटी शूज पहनते हैं और शूज का कलेक्शन भी रखते हैं. आपको मिस्टर परफेक्शनिस्ट का खिताब दिला देने की क्षमता रखने वाले ये जूते जब से इमेज रिफ्लेशन के एलिमेंट माने जाने लगे हैं, तभी से बड़ी शूज कंपनीज ने भी मार्केट को अपग्रेड कर दिया है. हर तरह के जूते बाज़ार में मिलते हैं.

दरअसल, मनोवैज्ञानिक मानते रहे हैं कि व्यक्तित्व का पता आदमी का जूता भी बताता है. किसी से पहली मुलाकात में आप उसे कितना प्रभावित करेंगे, यह दो बातों पर निर्भर है. इनमें पहला पहनावा है. जब किसी से आप मिलते हैं तो आपका पैर जिसमें आप जूते पहने होते हैं, वो सबकुछ बयां कर देता है. इसलिए यह पहनावे का अहम हिस्सा है. कपड़ों के साथ जूते से भी पता चलता है कि आपने मेल-मुलाकात के टाइम और आदमी को किस रूप में लिया है.

अगर आपके जूते फटे हुए हैं तो यह दरिर्द्रता दर्शाता है. साथ में यह भी बता जाता है कि आप कितने लापरवाह हैं और चीज़ों को लेकर बिलकुल भी गंभीर नहीं हैं. इसलिए जब कभी आप इंटरव्यू के लिए जाएं तो कभी भी फटे और गंदे जूते न पहनें. एक प्रोफेशनल व्यक्ति की पर्सनालिटी का अहम हिस्सा है कि वह अपने काम के प्रति गंभीर हो, अपडेट हो और एलिगेंट बिहेवियर रखता हो. कुछ ऐसी ही क्वालिटीज को रिफलेक्ट करते हैं लेदर फॉर्मल शूज. लेदर शूज को केयर की खासी जरूरत होती है, यही वजह है कि कस्टमर की डिमांड पर अब कंपनी शूज पॉलिश और 60 दिन के अंदर डिफेक्टिव शूज बदलने और रिपेयरिंग की सर्विस देती है. जूतों का बाज़ार भी बहुत ही बड़ा हो गया है. उन्हें हर चीज़ का ख्याल रहता है.

ऐसे में आप अपना ख्याल रखिए और बिना कुछ कहे किसी को अपने बारे में सबकुछ इन जूतों को मत बताने दीजिए. ये आपके लिए खतरे की घंटी से कम नहीं है. साफ और बढ़िया जूते पहनिए और दूसरों पर अच्छा इम्प्रेशन डालिए.

Don't Miss! random posts ..