ENG | HINDI

इस देश में यौन अपराध चरम पर, बच्चों को किया जाता है रेप देखने के लिए विवश

यौन अपराध

यौन अपराध – आज के वक्त में जहां दुनिया भर के लोग एक नए आधुनिक युग की तरफ बढ़ रहे हैं.

वहीं ऐसे लोग भी है जो अपराधों की चरम सीमा को भी लांघते जा रहे  हैं और ऐसे अपराधों को जन्म दे रहे है, जिसकी शायद कल्पना करना भी मुश्किल हैं ।

और इन अपराधों के लिए शायद मौत की सजा भी कम लगने लगे ।

यौन अपराध

अफ्रीका के दक्षिण में स्थित देश सूडान में दिन प्रतिदिन हालात इतने भयानक होते जा रहे हैं । जिसे जानकर किसी की भी रुह कांपने पर मजबूर हो जाए । संयुक्त राष्ट्र ने हाल ही में सूडान के मानवाधिकारों की स्थिति को लेकर एक रिपोर्ट जारी की है । इस रिपोर्ट के अनुसार सूडान देश की हालत हद से ज्यादा खराब हो चुकी है । यहां पर ऐसे अपराधों को जन्म दिया जा रहा है, जिसके बारे में आजतक किसी ने भी नहीं सुना होगा ।

यौन अपराध

सूडान देश में यौन संबंधी अपराध चरम पर है । और अफसोस की बात ये है कि इन अपराधों को बहुत  बुरी तरह अजांम दिया जाता है । रिपोर्टस के मुताबिक सूडान देश में बच्चों को अपनी मां और परिजनों के बलात्कार को देखने के लिए विवश किया जाता है । अपनी मां , बहन या अन्य किसी रिश्तेदार के साथ हो रही किसी को घटना को अपनी आँखों से देखना किस बच्चे को कितनी बुरी तरह आहत कर सकता है । शायद उस दर्द की कल्पना कर पाना भी मु्श्किल हैं।  

यूएन दारा जारी की गई इस रिपोर्ट में यहां हुए अपराधों के लिए 40 अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया गया जिन्होने मानव अधिकारों की सभी सीमाएं तोड़ दी । इन अपराधी अधिकारियों में 4 सेना के कर्नल रैंक के अधिकारी और तीन स्टेट गवर्नर शामिल थे इस रिपोर्ट को यहां के लोगों की गवाहाई , सैटलाइट दारा ली गई तस्वीरों दस्तावेजों के आधार पर तैयार किया गया है ।

यौन अपराध

रिपोर्ट के मुताबिक सूडान देश इस वक्त सबसे मश्किल दौर से गुजर रहा है । यहां भुखमरी और यौन हिंसा से लोग पेरशान है । हालांकि इसके लिए सूडान की राजनीतिक गतिविधियां जिम्मेदार है । गौरतलब है कि दक्षिणी सूडान 2011 में आजाद होकर एक अलग देश बना था । लेकिन सूडान अस्तित्व में आ पाता । उसे पहले ही यहां गृहयुद्ध छिड़ गया । जिसका फायदा उठाकर अधिकारी यहां पर यौन हिंसा को अंजाम दे रहे हैं । रिपोर्टस के मुताबिक यहां पर अधिकारी लोगों को जान से मारने की धमकी देते है । और जान बख्शने क बदले उनके परिवार के सदस्य का रेप देखने के लिए विवश करते हैं ।

रिपोर्टस के अनुसार एक महिला ने बताया कि उसके बेटे को उसकी जान के बदले उसकी दादी का रेप देखने के लिए विवश किया गया । जब हम किसी महिला के साथ यौन अपराध की खबर सुनते हैं तो हम सोचते हैं ।

यौन अपराध – इंसान की हैवानियत इतनी कैसे गिर सकती है । लेकिन अब लगता है हैवान बने के बाद अपराध की कोई सीमा नहीं होती । पद का फायदा उठाकर ऐसे गुनाह को अंजाम देना वाकई में शर्मनाक हैं ।

Don't Miss! random posts ..