ENG | HINDI

अगर आप भी इनमें से किसी को बताते हैं राज़ की बातें तो हो जाइए सावधान !

राज़ की बातें

राज़ की बातें – महाभारत सिर्फ एक महाकाव्य नहीं है बल्कि हमे ज़िदंगी से जुड़े कईं सलीके भी सिखाता है।

जीवन से जुड़ी कईं ऐसी सीख देता है जिन्हे अगर हम अपने अंदर उतार ले तो हमारा जीवन बहुत बेहतर हो सकता है।  महाभारत रिश्तों और रीति-रिवाजों की डोर में बंधा हुआ एक ऐसा ग्रंथ है जो जीवन से जुड़ी ऐसी बातें भी कह देता है जिन्हे जानना किसी भी इंसान के लिए फायदेमंद हो सकता है।

महाभारत में श्री कृष्ण ने गीता का उपदेश देकर मानों इंसान को जीवन सार समझाया था, इसके अलावा भी महाभारत में ऐसे कईं प्रसंगों का उल्लेख है जो जीवन से जुड़ी कईं बातें समझाते हैं।

आपको बता दें कि महाभारत में इस बात का भी ज़िक्र है कि हमे किससे अपनी राज़ की बातें शेयर करनी चाहिए और किससे नहीं, अगर आप गलत इंसान से अपने रहस्य बांटेंगे तो ये आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है।

जी हां, अक्सर ऐसा होता है कि हम अपने दिल की गहरी बातें भी ऐसे इंसान से कह जाते हैं जो बाद में उसका फायदा उठाकर हमारे लिए मुश्किल खड़ी करता है। ऐसे में ये बात ध्यान देने योग्य है कि हमे किस इंसान से अपने राज़ सांझा करने चाहिए औऱ किससे छिपाने चाहिए।

आज आपको इसी बारे में जानकारी देते हैं राज़ की बातें किसे बतानी चाहिए और किसे नहीं –

महाभारत जो कि हमे लाइफ मैनेजमेंट के गूढ़ रहस्य सिखाता है उसके अनुसार हमे अपने राज़ की बात कभी भी किसी स्त्री को नहीं बतानी चाहिए क्योकि स्त्रियों के पेट में कोई बात नहीं टिकती, इसका संबध भी महाभारत के एक अध्याय से ही है। ऐसा कहा जाता है कि स्त्रियां कभी ना कभी उन्हे बताई गई राज़ की बात किसी ना किसी के आगे उजागर कर ही देती हैं। ऐसे में इन्हे अपने राज़ की बात बताना आपके लिए घातक हो सकता है क्योकि अगर ये बात उन्होने गलत व्यक्ति के समक्ष कह दी तो ये आपके मान-सम्मान को ठेस पहुंचा सकता है।

राज़ की बातें

इसके अलावा स्त्रियां अक्सर इधर की बात उधर कह ही देती हैं भले ही इसके पीछे उनका उद्देश्य गलत ना हो लेकिन वो ऐसा करती हैं। ऐसे में स्त्रियों को कभी भी कोई राज़ की बात ना बताएं।

वैसे स्त्रियां इसे अन्यथा ना लें क्योकि ये भी सच है कि कईं स्त्रियां गहरे से गहरे राज़ को अपने अंदर समेट लेती हैं। इसके अलावा मूर्ख और लालची व्यक्तियों को भी कभी कोई राज़ नहीं बताना चाहिए।

राज़ की बातें

ऐसा इसलिए क्योकि मूर्ख इंसान जाने अनजाने में ये बात किसी और से कह सकता है तो वहीं लालची व्यक्ति पैसे के लालच में आपके राज़ की बात किसी और के साथ शेयर कर सकता है।

राज़ की बातें

लालची व्यक्ति अपने स्वार्थ को सिध्द करने के लिए आपका राज़ बड़ी ही आसानी से किसी अन्य व्यक्ति से साथ शेयर कर सकता है।इसके अलावा बच्चों से राज़ की बात कहना भी घातक हो सकता है क्योकि वो अपनी मासूमियत में ये बात किसी से शेयर कर सकते हैं।

राज़ की बातें

इसलिए अगर आप चाहते हैं कि आपका राज़, राज़ की बातें राज़ ही रहे तो आप अपने राज़ की बातें इनमें से किसी भी व्यक्ति को ना बताएं। याद रखे अपना कोई भी राज़ सिर्फ उसी इंसान के साथ बांटे जो आपका विश्वास पात्र हो।

Don't Miss! random posts ..