ENG | HINDI

भारतीय शटलर पीवी सिंधु ने बनाया एक और रिकॉर्ड

पीवी सिंधु

रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतकर देश का सिर गर्व से ऊंचा करने वाली पीवी सिंधु ने एक बार फिर नया रिकॉर्ड बनाया है. वो एशियन गेम्स के फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गई हैं.

स्टार बैडमिंटन प्लेयर पीवी सिंधु से अब लोगों को गोल्ड़ की उम्मीद है.

18वें एशियन गेम्स में पीवी सिंधु ने एक घंटे और पांच मिनट तक चले मुकाबले में दुनिया की नंबर 2 खिलाड़ी यामागुची को 21-17, 15-21, 21-10 से हराकर फाइनल में जगह पक्की कर ली. आपको बता दें कि सिंधु से पहले कोई भी भारतीय पुरुष या महिला खिलाड़ी एशियाड के फाइनल तक नहीं पहुंच पाए हैं. रियो ओलंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट सिंधु से अब पूरे देश को गोल्ड मेडल लाने की उम्मीद है. फाइनल में उनका मुकाबला वर्ल्ड नंबर एक चीनी ताइपे की खिलाड़ी ताई जु यिंग से होगा. गोल्ड मेडल के लिए यह मुकाबला 28 अगस्त को होगा.

पीवी सिंधु खेल की शुरुआत से ही अपने अक्रामक अंदाज़ में दिखी. यामागुची के खिलाफ स्कोर 8-8 से बराबर किया और इसके बाद 13-9 से बढ़त ले ली. सिंधु ने यामागुची पर इस बढ़त को बनाए रखा और अंत में पहला गेम 22 मिनटों के भीतर 21-17 से अपने नाम कर लिया. दूसरे गेम में भी दोनों को बराबरी का संघर्ष करते देखा गया, लेकिन जापान की खिलाड़ी यामागुची ने ये सेट जीत लिया.

सिंधु ने तीसरे गेम में यामागुची पर अपना दबाव बनाने की कोशिश करते हुए 9-4 की बढ़त बनाई. जापानी खिलाड़ी के खिलाफ इस बढ़त को बनाए रखते हुए सिंधु ने तीसरा गेम 21-10 से जीत लिया. एशियाई खेलों में यह सिंधु का पहला मेडल है.

एशियाई खेलों के फाइनल में सिंधु मुकाबला दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी ताई जु यिंग से और गोल्ड जीतना उनके लिए इतना आसान नहीं होगा. वैसे भी यिंग के साथ सिंधु का रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है, गोल्ड के मौके को इतनी आसानी से छोड़ेंगी भी नहीं, साफ है फाइनल में दोनों खिलाड़ियों के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिलेगी.

यदि पीवी सिंधु गोल्ड मेडल जीत जाती हैं तो ऐसा करने वाली वो पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बन जाएंगी. उम्मीद है कि सिंधु देश का सिर एक बार फिर गर्व से ऊंचा कर देगी.

Article Categories:
खेल

Don't Miss! random posts ..