ENG | HINDI

इस ब्लड ग्रुप वाले का खून ज़्यादा पीते हैं मच्छर !

O ब्लड ग्रुप

O ब्लड ग्रुप – क्या कभी आपने ये सोचा कि आपको ही ज्यादा मच्छर क्यों काटते हैं?

जब भी आप सोते हैं, बैठते हैं या टहलते हैं तो ये मच्छर आपको कैसे पहचान लेते हैं. कैसे वो सिर्फ आपको ही काटते हैं.

उन्हें कैसे पता हो जाता है कि अब आप बिस्तर पर आ गए हैं? अक्सर लोगों को आपने ये कहते हुए सुना होगा कि इतने लोगों में उन्हें ही मच्छर काट रहा है, जबकि बाकी लोग बड़े ही चैन से लेते या बैठे होते हैं.

मच्छर बहुत ही समझदार होते हैं, क्या आपको ऐसा लगता है?

भूलकर भी कभी किसी के सामने ये बात मत कहिएगा. ऐसा कुछ नहीं होता. हाँ, लेकिन एक विशेष तरह के खून वालों को मच्छर आसानी से पहचान लेते हैं और उन्हीं की तरफ आकर्षित होते हैं. एक रिसर्च में देखा गया है कि मच्छर ‘ओ’ ब्लड ग्रुप की ओर ज्यादा आकर्षित होते हैं. खून के चार प्रकार होते हैं, ए, बी, एबी और ओ. कम ही लोगों का ब्लड ग्रुप ओ होता है. इस तरह के खून में कुछ खास प्रकार के तत्व पाए जाते हैं, जो मच्छरों को आकर्षित करते हैं. इसका मतलब ये हुआ कि जिन लोगों का O ब्लड ग्रुप है उन्हें मच्छर ज्यादा काटते हैं.

आमतौर पर O ब्लड ग्रुप वाले लोग बाकी लोगों के लिए बहुत ही सहायक होते हैं.

O ब्लड ग्रुप का खून किसी को भी चढ़ सकता है. जब भी कभी इमरजेंसी होती है तो मरीज़ को इस ब्लड ग्रुप वाले का खून चढ़ा दिया जाता है. ये ग्रुप अब मच्छरों को भी आकर्षित करता है, ये तो अपने आप में बड़ी हैरानी वाली  बात है. असल में इसके पीछे एक लोजिक है. मच्छर हमारे ब्लड से प्रोटीन लेते हैं. एक रिसर्च के मुताबिक, O ब्लड ग्रुप वाले लोगों को A ब्लड ग्रुप की तुलना में दोगुना मच्छर काटते हैं. वहीं B ब्लड ग्रुप के लोगों को सामान्य रूप से मच्छर काटते हैं. इसका मतलब

ये हुआ कि O ब्लड ग्रुप वालों के खून  में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है.

अगर आपका O ब्लड ग्रुप है और आप लम्बी लम्बी साँसे लेते हैं तो आपको मच्छर ज्यादा काटेंगे.

एक शोध में ये बात पता चली है कि जो लोग लंबी लंबी सांसें लेते हैं, उन्हें मच्छर ज्यादा काटते हैं. दरअसल इसकी वजह सांस छोड़ने के दौरान शरीर से बाहर आने वाली कार्बन डाय ऑक्साइड है जिसमें शरीर की गंध मिली होती है. मच्छर इस गंध से ही तय करते हैं कि वे किस ओर जाना चाहते हैं. सांस जितनी लंबी होगी, उनके लिए अनुमान लगाना उतना आसान होगा.

तो अब से आप अपने सांस लेने की गति को धीमी कर दीजिये.

इतना ही नहीं एक शोध में ये बात भी सामने आई है कि जिन लोगों का पसीना ज्यादा बदबू करता है, उन्हें भी मच्छर ज्यादा काटते हैं. जिन लोगों को ज्यादा पसीना आता है, उन्हें मच्छर ज्यादा काटते हैं. पसीने में लैक्टिक ऐसिड, यूरिक ऐसिड, अमोनिया जैसे तत्व होते हैं, जिनसे मच्छर जल्दी आकर्षित होते हैं. यही कारण है कि जब आप पार्क में टहलते हैं तब भी मच्छर काट लेता है.

तो अब से जिन लोगों का O ब्लड ग्रुप है, उन्हें संभलकर रहना चाहिए, क्योंकि ये मच्छर आपको हर जगह पहचान लेंगे.

Don't Miss! random posts ..