ENG | HINDI

अगर शाम 4 से 6 बजे के बीच की भूख को करेंगी नजरअंदाज तो होगी थायरॉयड की समस्या

शाम की भूख

शाम की भूख – आपने कभी-कभी नोटिस किया होगा कि शाम को बहुत तेज की ज्यादा भूख लगती है। उस भूख को जब हम नजरअंदाज करते हैं तो डिनर में ज्यादा खाना खा लेते हैं। दरअसल शाम की भूख लगने लगती है।

लेकिन लोग काम की आपाधापी में शाम की भूख को नजरअंदाज कर देते हैं। शाम की भूख नजरअंदाज करने की वजह से बहुत ज्यादा समस्या हो जाती है और कई बार लोगों को बीपी की भी प्रॉब्लम हो जाती है।

जबकि हल्का खाना खाकर इससे बच सकती हैं

शाम की भूख

जबकि शाम को इस वक्त स्नैक्स खाकर इस तरह की समस्या से बच सकती हैं। और इससे डिनर भी हल्का कर सकती हैं या उसे स्किप भी कर सकती हैं जिससे वजन बढ़ने की समस्या भी नहीं होगी।
दरअसल शाम की भूख शरीर में हॉर्मोन कॉर्टिसॉल के कम होने से होती है। यह सुबह के वक्त बढ़ता है और पेट साफ करने के साथ बढ़िया शुरुआत के लिए जिम्मेदार होता है। शाम के वक्त तक इसका लेवल डाउन होने लगता है जिसको बनाए रखने के लिए शाम को इस समय स्नैक्स लेने चाहिए।

शाम को नहीं खाने से हो सकता है थायरॉयड

शाम की भूख

शाम को 4 से 6 बजे के बीच हर किसी को भूख लगती है लेकिन कोई इसलिए नहीं खाता है क्योंकि लोग सोचते हैं कि अभी तो लंच किया है। लेकिन, ऐसा नहीं है। जब हम शाम को कुछ नहीं खाते तो हमारा शरीर कॉर्टिसॉल घटाने के बजाय बढ़ाने लगता है। जिसके चलते हम डिनर में ज्यादा खाना खा लेते हैं। इसके अलावा शाम को भूख लगने के दौरान नहीं खाने से पाचन क्रिया धीमी हो जाती है जिससे पीसीओडी या थायरॉयड जैसी समस्याओं के साथ इंसुलिन इंसेंसिटिविटी भी हो जाती है। इसलिए शाम के वक्त जरूर खाना चाहिए भले ही आप डिनर स्किप कर दें।

शाम को क्यों खाना चाहिए मूंगफली और चना?

शाम की भूख

शाम को शरीर में कॉर्टिसॉल सामान्य होना चाहिए क्योंकि इसी से शरीर को एनर्जी मिलती है। लेकिन शाम होते-होते तक शरीर में कॉर्टिसॉल का स्तर घटने लगता है। इसी को बराबर और सामान्य बनाए रखने के लिए शाम को खाना जरूरी माना जाता है। लेकिन कुछ लोग वजन बढ़ने के डर से शाम और रात को खाना नहीं खाते हैं। ऐसा ना करें। इससे सुबह तक आपके शरीर में कमजोरी आ जाती है और आपको सुबह उठकर चक्कर आने लगते हैं।

ऐसे में सुबह की कमजोरी से बचने के लिए शाम को चना और मूंगफली खाएं। मूंगफली विटमिन c और प्रोटीन के अच्छे सोर्स हैं। वहीं चना में प्रचूर मात्रा में आयरन, प्रोटीन और कैल्शियम होता है जिसके कारण शरीर को तुरंत एनर्जी मिलती है।

अगर हैं ऑफिस में…

अगर आप वर्किंग हैंं तो आपको मालूम ही होगा कि शाम 4 से 6 बजे का समय ऑफिस के पैकअप करने का समय होता है। मतलब की ऑफिस में काम खत्म कर घर जाने का समय होता है। ऐसे में काम खत्म कर घर जाने के लिए एनर्जी की जरूरत होती है। इस एनर्जी को प्राप्त करने के लिए चना और मूंगफली अच्छी स्रोत हैं। अगर आप रात को सोने से पहले एक घंटा टहलती हैं तो रोटी भी खा सकती हैं। यह आपको रात को भूख नहीं लगने देगी और सुबह उठकर काम करने के लिए पूरी एनर्जी देगी।

एक बार खा सकती हैं समोसा

अगर आप हमेशा ऐक्टिव रहती हैं और वर्किंग हैं तो सप्ताह में एक दिन चाट या समोसा भी खा सकती हैं। आप देखेंगे कि आपका डिनर 4-5 दिन में ही कम होता जाएगा। समोसा से आपको स्वादिष्ट और चटपटा खाने की तलब खत्म हो जाएगी और आपको संपूर्ण मात्रा में कार्बोहाइड्रेट भी मिल जाएगा जो आपको एनर्जी देगा।

मखाना या सलाद खाएं

शाम की भूख

अगर आपको चना और मूंगफली खाने का मन नहीं करता हैतो आप घी में भूने हुए मखाने या सलाद खा सकती हैँ। ऑफिस आने के लिए जब आप लंच पैक करती हैं तो शाम के स्नैक्स के लिए भी एक टिफिन पैक कर लें जिसमें मखाने के घी में भुन कर रख लें या सलाद को काट कर रख लेँ। घी से भूने मखाने में नमक मिलाकर ऑफिस में भूख लगने पर खाएं। मखाने में फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है और कैलरीज कम होती है जो फैट नहीं बढ़ाती है और एनर्जी देती है। फाइबर से वजन कम करने में भी मदद मिलता है।

इसके अलावा स्नैक्स में ताजे फल से बने सलाद भी आप खा सकती हैं। खाने में सलाद से ज्यादा अच्छा विकल्प और कुछ नहीं हो सकता है। हर दिन अलग-अलग फल के सलाद लाएं और इनका सेवन करें। इससे आपकी सेहत भी अच्छी रहेगी और आपको एनर्जी भी मिलेगी।

शाम की भूख को हल्का स्नेक्स खाकर मिटाइए – तो शाम को ये सब चीजें जरूर खाएं और हेल्दी रहें।

Don't Miss! random posts ..