ENG | HINDI

बड़ा ही ऐतिहासिक है मई के महीने का इतिहास

मई के महीने का इतिहास

मई के महीने का इतिहास – वर्ष का हर माह इतिहास की दृष्टि से ऐतिहासिक भूमिका रखता है लेकिन वर्ष के 12 महीनों में मई का महीना कई स्तरों पर महत्वपूर्ण है।

एक ओर मई माह में कई ऐतिहासिक घटनाएं बीती हैं तो दूसरी तरफ मई में कई महान लोगों के जन्म भी हुए हैं। जिनसे लोग कहीं न कहीं प्रभावित हुए है।

मई के महीने का इतिहास – इसके अलावा इस माह के हर दिन में अलग विशेषता है। जो इस महीने को ऐतिहासिक दृष्टि से महत्व देता है। इस महीने में वे क्या ऐतिहासिकता है जिससे यह महीना अन्य माह से ख़ास है उसके लिए पढ़िए यह विस्तृत विवरण।

अगर मई की 1 तारीख से 31 तारीख तक में हुई ऐतिहासिक बातों पर चर्चा करें, फिर मई के माह में ऐसे कई महत्वपूर्ण पल दर्ज हैं जिससे यह माह लोगों के नज़रों में ख़ासा चर्चित है। मई का पहला दिन, जो अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन देश भर के श्रमदानों की अवकाश रहता है। यह दिवस प्रतिवर्ष मई माह की 1 तारीख को मनाया जाता है। इसके साथ ही साथ 1 तारीख को गुजरात और महाराष्ट्र का स्थापना दिवस भी मनाया जाता है।

मई के महीने का इतिहास

1 मई के बाद यदि 2 मई की बात करें तो यह दिन फिल्म जगत के लिए ऐतिहासिकता रखता है क्योंकि इस दिन महान बंगाली फिल्ममेकर सत्यजीत रे का सालगिरह है सत्यजीत रे ने हिन्दी सिनेमा में काफी योगदान दिया है। उनके द्वारा निर्देशित पाथेर पांचाली बंगला फिल्म के साथ हिन्दी सिनेमा के लिए भी मील का पत्थर साबित हुई है।

मई के महीने का इतिहास

इस माह की 7 तारीख को, गीतांजली उपन्यास के लिए नोबेल पुरस्कृत साहित्यकार रविन्द्रनाथ टैगोर का जन्म दिवस भी है। रविन्द्र जी ने कई महत्वपूर्ण उपन्यास व कविताएं लिखी थीं। जो उनके समय से लेकर आज दिन तक विशेषता रखती है।

मई के महीने का इतिहास

9 मई की तारीख इतिहास की दृष्टि से महत्व है। इस दिन महाराणा प्रताप का जन्म दिवस के साथ स्वतंत्रता सेनानी, समाजसेवी और विचारक गोपाल कृष्ण गोखले का जन्म भी शामिल है। इस दिन भारत की वंदना शिवा को महिला सशक्तिकरण और पर्यावरण संरक्षण के लिए सिडनी शांति पुरस्कार के लिए चुना गया।

मई के महीने का इतिहास

9 मई के बाद 10 मई का दिन भी इतिहास की दृष्टि से चर्चित रहा है। इस दिन इटली के खोजकर्ता और नाविक कोलंबस ने कायमान द्वीप की खोज की थी। नीदरलैंड की राजधानी एम्स्टरडम में ऐतिहासिक शिप पोर्ट संग्रहालय खोला गया था।

संतोष यादव, दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत एवरेस्ट पर पहुंचने वाली महिला पर्वतारोही बनीं। और भारत रत्न से सम्मानित नेल्सन मंडेला ने दक्षिण अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली।

इनके बाद मई माह के 8 वें दिन से 14 तारीख तक के बीच में मदर्स डे और मई की 21 तारीख को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का हत्या।

इसके साथ ही दिनांक 21 का दिन एंटी टेरेरिज्म दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। मई के अंतिम दिनों में 27 मई 1964 के दिन पंडित जवाहर लाल नेहरू का पुण्यतिथि के तौर पर मनाया जाता है।

ये है मई के महीने का इतिहास – यदि संक्षेप में मई के महीने के बारे में कहें फिर मई का महीना ऐतिहासिक दृष्टि से कई मायनों में महत्वपूर्ण है ।

Don't Miss! random posts ..