ENG | HINDI

लड़के- लड़की के बीच उम्र का फासला आखिर क्यों होता है शादी के वक्त

शादी के वक्त उम्र का फासला

शादी के वक्त उम्र का फासला – लड़के और लड़की की शादी के टाइम मम्मी पापा चाहते है की दोनों के बीच ५ से ६ साल का गैप होना चाहिए. दरअसल, बड़े उम्र के लड़के से शादी करना एक समझदार फैसला होता है.

लेकिन बदलते जमाना के साथ लोगों की सोच भी बदल रही है. आज कल ऐज को लेकर कोई बड़ा इश्यू नहीं रह गया है.

दोनों के बीच उम्र का फ़ासला रखने के पीछे भी कुछ रोचक बाते है जो जानना बहुत जरुरी है, आइए जानते है :

शादी के वक्त उम्र का फासला –

मैच्योर होते है लड़के 

कहते है कि लड़किया ज्यादा इमोशनल होती है, जो छोटी छोटी बातों पर इमोशनल हो जाती है. तो उन्हें सभालने के लिए लड़के में  मैच्योरिटी होना बुहत जरुरी है. अगर दोनों की उम्र समान रहा तो उनकी सोच कभी नहीं मिलेगी. जिसकी वजह से उनके बीच झगड़े होने की संभावना भी बढ़ जाएगी.

शादी के वक्त उम्र का फासला

उम्रदराज पुरुष सफल होते हैं

उम्रदराज पुरुष के साथ शादी करने में फायदा ये होता है कि लड़की को फाइनेंशियल स्ट्रगल नहीं करना पड़ता है.  उसका करियर सेट है और उसे नौकरी के चक्कर में इधर-उधर भागना नहीं है. ऐसे में लड़की आराम की अपनी लाइफ बिता सकती है. हर लड़की ऐसे ही ससुराल की सपना देखती रहती है जहां उसे इकोनॉमिक क्राइसेस न हो. और साथ ही उम्र की बात की जाएं तो लड़किया कम उम्र में ही ऐज्ड लगगे लगती है.

जिम्मेदार

करियर सेट होने की वजह से ऐसे लोग अपनी फॅमिली के साथ ज्यादा टाइम बिता पते है और अपने जिम्मेदारियों को भी सही तरीके से निभा पाते हैं. उन पर जॉब चले जाने या फिर खुद को साबित करने का प्रेशर नहीं होता है. जिसकी वजह से वो अपने घर-परिवार की जिम्मेदारियों को भी पूरा कर पाते हैं.

शादी के वक्त उम्र का फासला

सेंटर ऑफ अटरेक्शन

ज्यादा उम्र के लड़के के साथ शादी करने की वजह से आप खुद ब खुद लोगों की नजर में आ जाते हैं. जहां कुछ लोग आपको मौकापरस्त कहते हैं वहीं कुछ आपको ब्रॉड माइंडेड मानते हैं.

स्टेबिलिटी

ऐज्ड लोग इमोशनली और प्रोफेशनली दोनों ही तरीके से ज्यादा स्टेबल और स्ट्रांग होते हैं. जबकि यंग लड़के हर रोज एक नया एक्सपेरिमेंट करते रहते हैं.

परिवर्तन बहुत जरूरी नहीं

उम्रदराज पार्टनर्स आपको अपने अनुसार ढालने में कम भरोसा करते हैं. ऐसे में आपके पास ऐसी जिन्दगी जीने का मौका होता है जिसे आप अपने तरीके से जी सकते हैं. वहीं कम उम्र के पार्टनर हर रोज पत्‍नी को अपनी पसंद की फेहरिश्त थमाते हैं.

शादी के वक्त उम्र का फासला

 सेक्स लाइफ अच्छी होती है 

उम्रदराज होने का ये एक नुकसान हो सकता है कि आपके पार्टनर के मन में सेक्स को लेकर वो इच्छा न हो जो आप में हो. पर इसे आपसी बातचीत से मुमकिन बनाया जा सकता है. इसी बात का दूसरा पक्ष ये भी है कि अनुभवी होने के नाते आपके पार्टनर को सेक्स लाइफ में आने वाली परेशानियों का पूरा ज्ञान होता है. जिससे कई बातों का घर बैठे समाधान पाया जा सकता है.

शादी के वक्त उम्र का फासला

इन वजहों से शादी के वक्त उम्र का फासला जरूरी होता है – आपके पास अपनी उम्र को अनुभव करने के साथ ही एक मैच्योर व्यक्ति के अनुभव को शेयर करने का मौका मिलता है. जिससे आपके भी आगे बढ़ने में मदद मिलती है.

Don't Miss! random posts ..