ENG | HINDI

इस आदमी ने अपने पेट को बनाया गुल्लक !

गुल्लक के बारे में तो आप सबने सुना ही होगा. बचपन में तो हर किसी ने गुल्लक देखा होगा और उसे यूज़ भी किया होगा।

दुर्गा पूजा के बाद तो हर किसी के घर में बच्चों के लिए गुल्लक आ जाते थे जिसमें बच्चे अगले साल आने वाले दुर्गा पूजा के लिए पैसे इकट्ठे करते हैं

लेकिन सवाल ये है कि अभी के समय में जब आप कॉलेज चले गए हैं या ऑफिस जाते हैं तो गुल्लक आप में से कितने लोग यूज़ करते होंगे ?

शायद कोई भी नहीं … या फिर जो करते भी होंगे तो वे मिट्टी वाले गुल्लक का यूज़ करते होंगे। लेकिन इस आदमी ने अपने पेट को ही गुल्लक बना लिया।

गुल्लक

इस आदमी के पेट में सिक्के

ये घटना छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले की है जहां 28 वर्षीय कुलेश्वर सिंह ने अपने पेट को ही गुल्लक बना लिया। अब तक हम खबर सुनते आए थे कि इस आदमी या उस आदमी के पेट से एक – दो सिक्के निकले लेकिन कभी आपने सुना है कि किसी आदमी के पेट से 400 से ज्यादा सिक्के निकले हो।

गुल्लक

निकले 421 सिक्के

इस आदमी को पेट में काफी दर्द रहता था। फिर एक दिन डॉक्टर ने उसका ऑपरेशन किया। इस आदमी का ऑपरेशन तीन घंटे तक चला था जिसमें 421 सिक्के, 196 नट, 17 बोल्ट औऱ तीन लोहे की चाबियां निकली।

3 घंटे तक चला ऑपरेशन औऱ फिर हो गई मौत

ये ऑपरेशन तीन घंटे तक चला था। जिसमें डॉकटर्स ने 6 किलो से ज्यादा लोहा निकाला था। हालांकि ऑपरेशन के कुछ घंटों बाद ही आदमी की मौत हो गई।

इस आदमी का नाम कुलेश्वर सिंह था। इसके परिजनों का बताना है कि कुलेश्वर सिंह मानसिक रुप से पीड़ित था। औऱ वो हमेशा बाहर घूमते रहता था। इसी बीच में उसने ये सब चीजें खाई होंगी। इन सब चीजों को कुलेश्वर ने कब खाया इसके बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है।

गुल्लक

डॉकटर्स ने समझा सामान्य पेट का दर्द

कुलेश्वर सिंह हमेशा पेट में दर्द रहने की शिकायत करता था। लेकिन डॉक्टर्स ने इसे सामान्य पेट दर्द ही समझा था। जब डॉक्टर्स ने चेकअप किया तो पता चला कि उसके पेट में पहले से इतना सारा सामान जमा हुआ है जिसके कारण उसे पेट में दर्द की शिकायत थी।

डॉकटर्स आश्चर्य में थे कि इतनी सारी चीजों के होने के बावजूद भी उसके अंतड़ियों को जयादा नुकसान नहीं पहुंचा था।

गुल्लक

इंफेक्शन की वजह से हुई मौत

कुलेश्वर की मौत इंफेक्शन से हो गई। कुलेश्वर की पत्नी कुसुम को भी इस बारे में बिल्कुल भी मालूम नहीं था कि उसने ये सारी चीजें कब खाईं। परिवार वाले भी हैरान हैं कि उसने ये सारी चीजें कब खाईं। ऑपरेशन करने वाले डॉकटर एसएन यादव ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि मानिसक रोगी सामान्य तौर पर ऐसी चीजें खाते हैं। लेकिन हैरानी की बात है कि कुलेश्वर ने ये सारी चीजें खाईं और इसके बारे में उसके घर वालों को पता ही नहीं।

तो अगर आपके आसपास कोई अजीब व्यवहार करता है तो उसे नजरअंदाज करने के बजाय उसे समझे।

Article Categories:
विशेष

Don't Miss! random posts ..