ENG | HINDI

क्या महीना ख़त्म होते ही आपकी भी सैलरी ख़त्म हो जाती है ?

पैसों की तंगी

पैसों की तंगी – लाइफ में पैसा जितनी आसानी से आता है उतनी ही आसानी से चला भी जाता है.

पैसे की कीमत आज कम होती जा रही है लेकिन हमारी जिंदगी में इसकी कीमत बढती जा रही है.

नौकरी चाहे कितनी भी बड़े पैकेज वाली क्यों न कर ली जाए, लेकिन महीने के अंत तक सब खर्च हो ही जाती हैं.

आपके साथ भी पैसों की तंगी होती है. पहली तारिख को अमीर और फिर धीरे धीरे गरीब. ये गरीबी कम हो सकती है. बस अपनाइए कुछ आसान मगर कारगर उपाय.

पैसों की तंगी –

१ – खर्चे की लिस्ट तैयार करें

आपकी सैलरी अगर महीने के अंत से पहले ही ख़त्म हो जाती है तो आपको ये करना बहुत ज़रूरी है. सबसे पहले तो आप एक लिस्ट बनाये और पता करें कि आप हर महीने किन-किन चीजों में ज्यादा खर्च कर रहे हैं. इसी लिस्ट के अनुसार काम करें.

२ – सही प्लान बनाएं

बिना प्लान के लाइफ की गाड़ी आगे नहीं चलती. बिना प्लान के आप हमेशा परेशान रहेंगे. जब आपके खर्चे की लिस्ट बन जाए और निश्चित हो जाए कि कितना खर्च होगा तब आप प्लान बनाएं. एक लिस्ट फिजूलखर्चों की और एक ऐसे खर्चों की भी लिस्ट बनाएं. इसके बाद आप लिस्ट के अनुसार खर्चा करें, इससे आपको पता चलेगा कि आप बेवजह खर्चा कहा कर रहे है.

३ – एक्स्ट्रा इनकम

अगर आप नौकरी के अलावा भी काम करते हैं तो बहुत ज़रूरी है कि आप उसका पूरा ब्यौरा रखें. अगर आप कोई ऐसा काम कर रहे है जिससे आप एक्सट्रा इनकम भी कर सकते हैं तो ऐसे में आप वो काम जरूर करें ताकि आप अपनी सैलेरी के साथ अलग इनकम कर सके जिससे आप जरुरत की  चीजों को खरीद सकें. ये आपके लिए बहुत सही रहेगा.

४ – पार्टी पर लगाएं रोक

अगर आपकी आदत है कि पैसा मिलते ही पार्टी करते हैं तो इसपर रोक लगें. इससे आपको महीने के अंत तक काफी सहूलियत मिल जाएगी. इसलिए बेहतर होगा कि आप पार्टी से थोड़ी दूरी बनाएं. असल में ऐसे लोगों से भी दूरी बनाएं जो आपको पार्टी के लिए मजबूर करते हैं.

५ – घूमना करें कम

कुछ लोगों को घूमने की बहुत आदत होती है. महीने के अंत तक वो कई जगह घूम आते हैं. भले ही वो शहर के अंदर ही क्यों न हो, लेकिन इसमें खर्च होता है. आपके बार-बार बाहर जाने से खर्च भी बढ़ता है.

६ – नो मोर शॉपिंग

ये बहुत बड़ा कारण है सैलरी ख़त्म होने का. आप इससे बचें. जब बहुत ज़रूरी हो तभी खरीदारी करें. बिना मतलब के कुछ भी न खरीदें. सालभर में जब बहुत जज्रूरी हो तभी कुछ खरीदें. इससे आपका बजट पर फर्क पड़ेगा.

पैसों की तंगी – इन बातों का ध्यान रखकर आप अपनी महीने की सैलरी में गुज़ारा भी कर सकते हैं और तो और आपको पैसे बच भी जाएंगे. तो देर मत कीजिए इन सभी पॉइंट्स को ध्यान में रखिए और अपनी सैलरी बचाइए.

Don't Miss! random posts ..