ENG | HINDI

साड़ी, ट्राउजर बेचने वाला मामूली व्यापारी कैसे बन गया ‘पतलून’ जैसी बड़ी कंपनी का मालिक ?

किशोरी बियानी

किशोरी बियानी – अपने अंदर छिपी प्रतिभा को पहचान लिया जाए, तो हर व्यक्ति के सपने आंखों के सामने सजीव हो सकते हैं।

हालांकि सपनों को संभव करने का हुनर हर किसी के पास नहीं होता है। लेकिन नामुमकिन की बातें उन व्यक्तियों के लिए क्षीण हैं जो अपनी प्रतिभा से हर मंजिल को छू लिया करते हैं। इन प्रेरणादायक पंक्तियों के पीछे हम आपको बताने जा रहे हैं, उस व्यक्ति के जीवन संघर्ण की कहानी जिन्होंने शुरुआत में साड़ी, ट्राउजर बेचने से शुरुआत की थी और वह अब ‘पतलून’ जैसे ब्राण्ड के मालिक हैं।

इनका नाम है किशोरी बियानी। जाने मानें व्यापारी लेकिन इनके नाम से सुप्रसिद्ध है इनका ब्राण्ड यानि ‘पतलून’। सिर्फ इस एक ब्राण्ड से किशोरी बियानी के प्रतिभा को आंकना गलत होगा। असल में किशोरी फ्यूचर ग्रुप के सीईओ भी हैं। साथ ही किशोरी बियानी को बिग बाजार जैसे रिटेल स्टोर को लेकर आने का श्रेय भी इन्हें ही जाता है।

लेकिन यह भी सही है कि जीवन की इन उपलब्धियों को हासिल करने के सप्रयास की कहानी किशोरी बियानी की आज जैसी नहीं थी।

किशोरी बियानी का बचपन

बचपन से किशोरी बियानी का मन पढ़ाई-लिखाई में बिल्कुल नहीं लगता था। इसलिए उन्होंने पढ़ाई के अलावा अन्य काम करने का सोचा। किशोरी ने अपने अलग आइडिया की बात दोस्तों के साथ साझा की थी। जिसमें उन्हें दोस्तों का साथ भी मिला था। किशोरी का वह आइडिया था इंडियन बाजार में रिटेल मार्किट को शुरु किया जाए। मतलब किशोरी ने इंडियन और रिटेल बाजार को एक छत में लेकर आने का सपना देखा था। इसके लिए किशोरी ने मार्केटिंग मैनेजमेंट में पीजी डिप्लोमा भी किया। और साथ ही एडवर्टाइजिंग पर केन्द्रित किताबों को पढ़ना भी शुरु कर दिया था।

मगर बचपन का यह सपना धीरे-धीरे आगे चला, इस बीच किशोरी बियानी को छोटे बिजनेस भी करने पड़े थे।

22 की उम्र में किशोरी बियानी को मिली सफलता

किशोरी बियानी का परिवार खानदानी व्यापारी था। लेकिन वह अपने परंपरागत कपड़े का व्यापार नहीं करना चाहते थे। हालांकि किशोरी ने अपने दादा के साथ साड़ी का बिजनेस भी किया था। लेकिन किशोरी को असली सफलता वर्ष 22 की आयु में हासिल हुई थी। जब उनका ट्राउजर बनाने का काम लोकप्रिय हो गया था।

किशोरी बियानी

किशोरी की यह कला है अनोखी

फ्यूचर ग्रुप व दो रिटेल मार्किट को लेकर आने वाले किशोरी को कंज्यूमर के बीच रहना बेहद पसंद है। मसलन वह कंज्यूमर के स्वभाव यानी पसंद को समझने के लिए अपने स्टोर में जाकर बैठ जाते हैं। जिससे उन्हें लोगों की पसंद व नापसंद के बारे में पता लग जाए।

किशोरी बियानी

किशोरी का सपना हुआ फोर्ब्स की लिस्ट में शुमार

किशोरी बियानी का बचपन में देखा सपना अब दुनीया सराहा रही है। उनके इस अथक कर्म का फल है कि वह फोर्ब्स द्वारा जारी होने वाली 100 अमीर लोगों के नाम में एक नाम किशोरी बियानी का भी है ।

किशोरी बियानी

Don't Miss! random posts ..