ENG | HINDI

ऑफिस में ज्यादा काम करते हैं तो कलीग बन जाते हैं आपके दुश्मन

हार्ड वर्किंग लोग

हार्ड वर्किंग लोग – ऑफिस में कई तरह के लोग होते हैं, इनमें से कुछ आपको पसंद करते हैं तो कुछ हर वक्‍त बस आपके काम में टांग अड़ाने के लिए तैयार रहते हैं। सभी इंप्‍लॉयीज़ के काम करने का तरीका अलग-अलग होता है।

कोई ऑफिस के बाद भी अपनी कंपनी के लिए काम करना पसंद करता है तो कोई ऑफिस आर्स में भी काम से जी चुराता है।

आपने भी अपने ऑफिस में कई तरह के लोगों को देखा होगा और उन्‍हीं में से एक होते हैं हार्ड वर्किंग लोग यानि मेहनती लोग जो हर वक्‍त बस अपने काम में लगे रहते हैं। जी हां, हर ऑफिस में कामचोर लोग तो होते ही हैं साथ ही मेहनती लोग भी होते हैं जो कंपनी को आगे बढ़ाने के साथ-साथ खुद भी आगे बढ़ना चाहते हैं।

भले ही हार्ड वर्किंग लोग बॉस को बहुत प्‍यारे हों लेकिन बाकी सहकर्मियों के लिए ये किसी मुसीबत से कम नहीं होते हैं। जी हां, अगर आपका कोई कलीग ऑफिस टाइम के बाद भी घर जाकर ऑफिस का काम पूरा करने में लगा रहे या देर तक ऑफिस में रूक कर प्रोजक्‍ट कंप्‍लीट करे तो ये आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है।

ऐसे हार्ड वर्किंग लोग बॉस को तो खूब पसंद आते हैं लेकिन बाकी इंप्‍लॉयीज़ के लिए ये सिरदर्द बन जाते हैं।

हर छोटी गलती पर बॉस इनका उदाहरण देकर आपको नीचा दिख्‍खाने का मौका नहीं छोड़ते हैं। समय की पांबदी और काम के प्रति इनकी डेडिकेशन ही बाकी इंप्‍लॉयीज़ के लिए मुसीबत बन जाती है।

हार्ड वर्किंग लोग बॉस के तो प्‍यारे बन जाते हैं लेकिन कलीग्‍स के लिए ये किसी दुश्‍मन से कम नहीं होते हैं। इनकी वजह से बाकी कलीग्‍स को भी ओवरटाइम करना पड़ जाता है और इनकी तरह हर वक्‍त काम में उलझे रहना पड़ता है।

ऐसे में दुश्‍मनी होना तो लाजिमी है लेकिन दोस्‍तों सबके काम करने का तरीका अलग-अलग होता है और किसी के मेहनती होने की वजह से आप उनसे नफरत या दुश्‍मनी नहीं कर सकते हैं।

वहीं दूसरी ओर हार्ड वर्किंग लोगों को भी ये बात समझनी चाहिए कि उन्‍हें सिर्फ बॉस को ही नहीं बल्कि अपने कलीग्‍स को भी खुश रखना है तभी उनकी तरक्‍की सही दिशा में हो सकती है।

वहीं इसके उलट जो लोग ऑफिस में बहुत डांट खाते हैं वो भी कुछ अलग ही होते हैं। ऑफिस के बारे में बस एक यही बात हमें ऑफिस से दूर भेजती है। कभी लेट होने पर बॉस की डांट पड़ती है तो कभी काम समय ना करने पर, कभी किसी गलती की वजह से डांट पड़ जाती है तो कभी बॉस का मूड खराब होता है।

जो लोग बॉस की डांट खाते हैं उनके लिए ये दौर बहुत मुश्किल होता है। दिमाग में टेंशन रहती है काम की और ऊपर से बॉस की डांट से मूड भी खराब हो जाता है लेकिन फिर भी आप काम छोड़कर घर नहीं भागते हैं।

ये है हार्ड वर्किंग लोग की कहानी – जी हां, यही आपकी खूबी है कि आप बॉस की डांट बार-बार सुनने पर भी अपनी जिम्‍मेदारियों को समझकर नौकरी नहीं छोड़ते हैं और हिम्‍मत से काम लेते हैं।

Don't Miss! random posts ..